गौ तस्करी करने वाले 6 आरोपी गिरफ्तार, मॉब लिंचिंग में मारे गए उमर का बेटा भी शामिल

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: January 23, 2019, 10:47 AM IST
गौ तस्करी करने वाले 6 आरोपी गिरफ्तार, मॉब लिंचिंग में मारे गए उमर का बेटा भी शामिल
पुलिस द्वारा गिरफ्तार गौ तस्कर

अलवर पुलिस ने गौ तस्करों की एक गैंग का खुलासा किया है. पुलिस द्वारा गिरफ्तार आरोपियों में एक आरोपी मकसूद है, जो नबंवर 2017 में अलवर में हुई गोरक्षकों की पिटाई में मारा गया था. पुलिस ने मकसूद के साथ उसके 6 साथियों को गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
राजस्थान के अलवर जिले में खेड़ली थाना पुलिस ने गौ तस्करी और वाहन चोरी करने वाले गैंग का भंडाफोड़ किया है. इस गैंग में 10 नवंबर 2017 को गोविंदगढ़ थाना इलाके में गोरक्षकों द्वारा की गई मॉब लिंचिंग का शिकार हुए उमर खान का बेटा मकसूद खान भी शामिल है. पुलिस ने मकसूद सहित 6 बदमाशों को गिरफ्तार किया है, जिनके खिलाफ गौ तस्करी और वाहनों की चोरी के दर्जनों मामले दर्ज है. पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से एक टैंकर, मारूति स्विफ्ट कार, 315 बोर का कट्टा, गायों को बांधने की रस्सियां और कच्ची शराब सहित अन्य सामान जब्त किया है. पुलिस के अनुसार गिरफ्तार बदमाशों पर हरियाणा सहित कैथवाड़ा, पहाड़ी, गोपालगढ़, नौगांवा, रामगढ़, सीकरी थानों में गौ तस्करी, लूट, पुलिस पर हमले के मामले दर्ज है.

खेड़ली थानाधिकारी उमेश बेनीवाल ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी की एक टैंकर और स्विफ्ट कार के साथ कुछ बदमाश क्षेत्र में घूम रहे हैं. सूचना के आधार पर पुलिस ने खेड़ली कस्बे के पथैना रोड के अलीपुर मोड पर बने एक तिबारे पर रात करीब 12 बजे दबिश देकर 6 बदमाशों को पकड़ा था. बेनीवाल ने बताया कि आरोपी खेतों में घूम रही गायों को टैंकर में भरने और गौ तस्करी को योजना बना रहे थे. पुलिस ने पलवल निवाली असरू, लियाकत, शब्बीर, समीन, पहाड़ी निवासी मकसूद और पलवल के ही इरशाद को गिरफ्तार किया है.

थानाधिकारी उमेश बेनीवाल ने बताया कि खेड़ली थाना इलाके में तीन माह पहले भनोखर और ड्योठाना के बीच पुलिस और गौ तस्करों के बीच मुठभेड़ हुई थी, जिसके बाद घाटमिका के गौ तस्कर गायों से भरी गाड़ी छोड़कर फरार हो गए थे. इसके बाद एक बार फिर से एक माह पहले गौ तस्करों से पुलिस की मुठभेड़ हुई थी और हाल ही में दारोदा गांव के पास भी पुलिस और गौ तस्करों की भिड़ंत हुई थी, जिसके बाद एसपी अलवर ने निर्देश पर इस गैंग पर कड़ी नजर रखी जा रही थी. इस गैंग का सरगना असरू और समीन है.

थानाधिकारी ने बताया कि आरोपियों से जिस वाहन को जब्त किया गया है वह देखने में एक पानी के टैंकर जैसा लगता है, लेकिन उसके पीछे एक दरवाजा है और अंदर गायों को बांधने के लिए खूंटे बनाए गए हैं. आरोपी गाय को पकड़ने के लिए उसे शराब पिलाते थे, जिसके बाद गाय बेहोश हो जाती और उसके रंभाने की आवाज नहीं आती. पुलिस भी खुले वाहने को चेक करती है और टैंकरों को कोई चैक नहीं करता ऐसे में इस गैंग के लिए गौ तस्करी करना आसान हो गया था.

यह भी पढ़ें-  गौ तस्‍करों का पीछा कर रही पुलिस टीम पर फायरिंग, दो पुलिसकर्मी घायल

यह भी पढ़ें-  राजस्थान में एक और मॉब लिंचिंग, गौ तस्करी के शक में अधेड़ की हत्या

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2019, 10:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...