अलवर में पुलिस की नशे के सौदागरों से मिलीभगत ! खैरथल एसएचओ लाइन हाजिर

राजस्थान पुलिस पर लगातार लग रहे बदनामी के दाग थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. पूर्व में गैंगरेप समेत कई मामलों में बदनाम हो चुकी अलवर पुलिस पर अब नशे के सौदागरों से मिलीभगत का आरोप लगा है.

News18 Rajasthan
Updated: July 13, 2019, 11:39 AM IST
अलवर में पुलिस की नशे के सौदागरों से मिलीभगत ! खैरथल एसएचओ लाइन हाजिर
संजय पूनिया। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
News18 Rajasthan
Updated: July 13, 2019, 11:39 AM IST
राजस्थान पुलिस पर लगातार लग रहे बदनामी के दाग थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. पूर्व में गैंगरेप समेत कई मामलों में बदनाम हो चुकी अलवर पुलिस पर अब नशे के सौदागरों से मिलीभगत का आरोप लगा है. जिले के खैरथल थानाधिकारी संजय पूनिया पर नशे के सौदागरों से मिलीभगत के आरोप लगे हैं. उसके बाद पुलिस अधीक्षक ने खैरथल थानाधिकारी पूनिया को लाइन हाजिर कर दिया है.

पांच आरोपियों में से चार को छोड़ा


जानकारी के अनुसार गुरुवार रात को अलवर से सीआईयू की टीम प्रभारी दिनेशचंद ने खैरथल कस्बे में नशे के सौदागरों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 5 आरोपियों को पकड़कर पुलिस का सुपुर्द किया था. सीआईयू की टीम ने आरोपियों से नशे के सामान से भरे 7 बोरे भी जब्त कर पुलिस को सौंपे थे. आरोप है कि इसके बाद पुलिस ने नशे के सौदागरों से सौदेबाजी कर माल को खुर्दबुर्द कर दिया और 4 आरोपियों को छोड़ दिया. केवल एक आरोपी तुलसीदास सिंधी को गिरफ्तार कर 146 किलो डोडा पोस्त जब्त दिखाया गया.

एसपी ने एसएचओ को किया लाइन हाजिर

इससे नाराज स्थानीय लोगों ने पुलिस अधीक्षक से खैरथल पुलिस की शिकायत की. मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक देशमुख परिस अनिल ने खैरथल एसएचओ संजय पूनिया को लाइन हाजिर कर मामले की जांच पुलिस उपाधीक्षक किशनगढ़बास को सौंपी है. वहीं एनडीपीएस एक्ट के दर्ज मामले की जांच हरसौरा थानाधिकारी जितेंद्र यादव को सौंपी गई है.

सरदारशहर पुलिस पर गैंगरेप का आरोप, एसपी एपीओ, सीओ सस्पेंड

जोधपुर में जाम्भा जी मंदिर के शिवदास महाराज ने की आत्महत्या
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...