बहरोड़ थाना लॉकअप ब्रेककांड में नया खुलासा, आलनपुर में रची गई थी पपला की फरारी की साजिश
Alwar News in Hindi

बहरोड़ थाना लॉकअप ब्रेककांड में नया खुलासा, आलनपुर में रची गई थी पपला की फरारी की साजिश
इस मामले में अब तक 23 आरोपी पकड़े जा चुके हैं. इनमें से 8 आरोपियों की जमानत याचिकाएं एडीजे कोर्ट नंबर-1 के एक न्यायाधीश बृजेश कुमार शर्मा ने पिछले 15 दिनों में खारिज की है.

अलवर (Alwar) जिले के बहरोड़ थाना लॉकअप ब्रेककांड (Behror Police Station Lockup Break Case) में नया खुलासा हुआ है. इस मामले में एसओजी (SOG) की ओर से कोर्ट में पेश की गई चार्जशीट (Chargesheet) के अनुसार विक्रम उर्फ पपला (Vikram alias Papala) की फरारी की साजिश बहरोड़ के आलनपुर गांव में रची गई थी.

  • Share this:
अलवर. जिले के बहरोड़ थाना लॉकअप ब्रेककांड (Behror Police Station Lockup Break Case) में नया खुलासा हुआ है. इस मामले में एसओजी (SOG) की ओर से कोर्ट में पेश की गई चार्जशीट (Chargesheet) के अनुसार विक्रम उर्फ पपला (Vikram alias Papala) की फरारी की साजिश बहरोड़ के आलनपुर गांव में रची गई थी. इसके लिए बहरोड़ में एक मकान में हथियार (Weapons) छिपाकर रखे गए थे. वहां से हथियार लेकर पुलिस पर हमला (Attack on police ) किया गया था.

पपला के दो साथियों के पास हथियार थे
एडीजे कोर्ट नंबर-1 के विशिष्ट लोक अभियोजक जितेन्द्र कुमार शर्मा ने बताया कि 5 सितंबर की रात को पकड़े गए हरियाणा के महेन्द्रगढ़ जिले के गांव खैरोली निवासी शातिर बदमाश विक्रम उर्फ पपला के पीछे उसके ही गांव का राजवीर गुर्जर और तिजारा के टिहली का नरेन्द्र गुर्जर भी मौजूद था. उनके पास एके-47 और एके-56 सहित अत्याधुनिक हथियार थे. लेकिन पुलिस को पीछे देखकर दोनों हथियार सहित वहां से भाग गए. इन लोगों ने अपने हथियार अलवर रोड़ स्थित एक सूने मकान में छिपा दिए और वहां से आलनपुर गांव पहुंच गए. उन्होंने पपला की गिरफ्तारी की खबर गैंग अन्य सदस्यों को दी.

बात नहीं बनी तो थाने पर हमला किया
इसके बाद आलनपुर गांव में गैंग के अन्य सदस्यों कोटकासिम के गुर्जरीवास निवासी सुनील गुर्जर और अशोक गुर्जर भी वहीं पहुंच गए. वहां सभी ने गैंग के अन्य साथियों को बुलाया. इसके बाद मामले को सैट करने के लिए सरपंच विनोद स्वामी को बहरोड़ थाने में भेजा गया. लेकिन जब बात नही बनी तो पपला गैंग के बदमाशों ने एकजुट होकर एके-47 समेत अन्य अत्याधुनिक हथियारों से पुलिस थाने पर हमला कर दिया और पपला को हवालात से छुड़ा ले गए.



15 दिनों में 8 आरोपियों की जमानत याचिकाएं खारिज
जितेंद्र शर्मा ने बताया कि मामले में अब तक 23 आरोपी पकड़े जा चुके हैं, लेकिन पुलिस अभी तक पपला तक नहीं पहुंच पाई है. वह अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है. पकड़े गए आरोपियों में से 8 की जमानत याचिकाएं एडीजे कोर्ट नंबर-1 के एक न्यायाधीश बृजेश कुमार शर्मा ने पिछले 15 दिनों में खारिज की है. कोर्ट ने अभी तक पकड़े गए बदमाशों में से कैलाशचंद, जगन खटाना, महिपाल गुर्जर, सुभाष गुर्जर, अजय उर्फ बिल्लू, दीक्षांत गुर्जर, अशोक उर्फ मेजर गुर्जर और सुनील गुर्जर की जमानत याचिकाएं खारिज की है.

 

पंचायतों का पुनर्गठन: HC ने 17 नवंबर और 12 दिसंबर को जारी अधिसूचना की रद्द

वसुंधरा के मुकाबले भामाशाहों ने CM अशोक गहलोत के राज में दिया दोगुना दान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading