अपना शहर चुनें

States

Crime News: अलवर में दो पक्षों के बीच हुआ झगड़ा खूनी संघर्ष में बदला, शख्स की हत्या से फैला तनाव

पीट-पीटकर मार डाले गए धर्मी जोगी की बेटी को ढांढ़स बंधाते परिजन.
पीट-पीटकर मार डाले गए धर्मी जोगी की बेटी को ढांढ़स बंधाते परिजन.

मारे गए धर्मी जोगी वारदात के वक्त अपने परिवार के साथ बाड़बंदी कर रहे थे. तभी कई मोटरसाइकिलों से आए तकरीबन 12 लोगों ने लाठी-डंडों से हमला कर दिया. इस वारदात में तीन लोग जख्मी भी हुए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 3, 2020, 8:18 PM IST
  • Share this:
अलवर. अलवर (Alwar) जिले के मालाखेड़ा थाना क्षेत्र के बालेटा गांव में दो पक्षों में हुए झगड़े में एक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या (Murder) कर दी गई. वारदात के बाद गुस्साए हिन्दू संगठन के लोगों ने थाने के बाहर धरना शुरू कर दिया और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की. पुलिस ने मृतक के शव को मालाखेड़ा अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है. मृतक के परिजनों ने फायरिंग करने का भी आरोप लगाया है. मृतक धर्मी जोगी की बेटी सविता का रो-रोकर बुरा हाल था और थाने के बाहर सविता को महिलाएं ढांढ़स बंधा रही थीं. वहीं अन्य परिजनों का भी रो-रोकर बुरा हाल था.

बाड़बंदी कर रहा था तभी हुआ हमला

इस वारदात के बारे में लोगों ने बताया कि बालेटा गांव के रहनेवाले धर्मी जोगी खेत पर तारबंदी का काम कर रहे थे. तभी गांव के ही रहमत के बेटे गिलड़ और तैयब के परिवार के करीब दो दर्जन लोग मोटरसाइकिलों से पहुंचे और धर्मी जोगी पर हमला कर दिया. आरोपियों ने लाठी-डंडों से पीट-पीटकर धर्मी जोगी की हत्या कर दी. धर्मी जोगी को बचाने आए उसके परिवार के तीन लोगों के साथ भी मारपीट की गई, जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गए. घायलों को मालाखेड़ा अस्पताल में प्राथमिक उपचार के बाद अलवर रेफर कर दिया. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए जिला पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में टीम का गठन कर तलाशी शुरू कर दी गई है.



हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग के साथ हिंदू संगठनों के लोग धरने पर बैठ गए.
हत्यारों को गिरफ्तार करने की मांग के साथ हिंदू संगठनों के लोग धरने पर बैठ गए.

जाते समय हत्यारों ने दी धमकी

मारे गए धर्मी जोगी की बेटी सविता ने भागकर अपनी जान बचाई. धर्मी जोगी के बेटे राजेश ने बताया कि हम परिवार के लोग अपने खेत पर तारबंदी कर रहे थे. तभी रहमत और गिलड़ के दो दर्जन लोग मोटरसाइकिल पर सवार होकर आए, उन्होंने लाठी-डंडे से पीटना शुरू कर दिया. मेरे भाई हरिओम महेंद्र बुरी तरह घायल हो गए और मेरे पैर में फ्रैक्चर हो गया. मेरी बहन सविता ने भाग कर अपनी जान बचाई. राजेश ने बताया कि मारपीट की दौरान उन्होंने फायर भी किए और ऐलान करते गए कि पुलिस में केस कर दिया तो सबको खत्म कर देंगे.

इस वारदात से गुस्साए लोग बैठे धरने पर

अब पूरे गांव में दहशत का माहौल है और हमलावर फरार हैं. वहीं वारदात के बाद हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए विभिन्न हिंदू संगठन के युवक थाने के बाहर धरने पर बैठ गए, जहां पर धार्मिक उन्माद बढ़ने की आशंका के चलते पुलिस ने अतिरिक्त पुलिस फोर्स बुलाया. यहां धरने से हटने के बाद सभी युवक और मृतक के परिजन मालाखेड़ा के अस्पताल में बनी मोर्चरी के बाहर धरने पर बैठ गए. जिला पुलिस अधीक्षक ने त्वरित निर्देशित देकर एक टीम को बालेटा भेजा और आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने का निर्देश दिया. थाना अधिकारी सज्जन सिंह ने बताया कि एक व्यक्ति की झगड़े में हत्या की गई है. मामले में एक आरोपी हिरासत में लिया है. अन्य आरोपियों की तलाश जारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज