लाइव टीवी

दिल्ली के युवक की हत्या कर शव अलवर में दफनाया, क्राइम ब्रांच ने बरामद की 27 हड्डियां

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: October 6, 2019, 12:08 PM IST
दिल्ली के युवक की हत्या कर शव अलवर में दफनाया, क्राइम ब्रांच ने बरामद की 27 हड्डियां
दिल्ली के कापसहेड़ा थाने में वर्ष 2011 में रवि कुमार के गायब होने का मामला दर्ज हुआ था.

करीब आठ साल पहले दिल्ली के एक युवक की हत्या कर उसके शव को अलवर (Alwar) जिले में दफना दिया गया. मामले की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच (Crime Branch of Delhi Police) ने अलवर जिले से मृतक के शव को बरामद किया है.

  • Share this:
अलवर. करीब आठ साल पहले दिल्ली के एक युवक की हत्या कर उसके शव को अलवर (Alwar) जिले में दफना (Buried) दिया गया. मामले की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच (Crime Branch of Delhi Police) ने अलवर जिले से शव (कंकाल) को बरामद किया है. क्राइम ब्रांच को कंकाल के सबूत के तौर पर 27 हड्डियां (Bones) बरामद हुई हैं. बताया जा रहा है कि युवक की हत्या उसकी ही पत्नी (Wife) ने अपने प्रेमी ( Lover) के साथ मिलकर की थी.

जानकारी के अनुसार, दिल्ली के कापसहेड़ा थाने में वर्ष 2011 में रवि कुमार के गायब होने का मामला दर्ज हुआ था. इसमें दिल्ली पुलिस जब कोई सुराग नहीं लगा पाई थी तो मामला दिल्ली क्राइम ब्रांच को सुपुर्द किया गया था. क्राइम ब्रांच को इस मामले में अलवर जिले के टपूकड़ा निवासी कमल सिंघला की भूमिका संदिग्ध लगी. इस पर उंसके खिलाफ साक्ष्य एकत्रित किए गए. उसके बाद कमल सिंगला का नार्को टेस्ट करवाया गया. इस टेस्ट में सामने आया कि कमल सिंगला ने रवि कुमार की पत्नी के साथ मिलकर उसकी हत्या की थी. बाद में रवि के शव को दिल्ली से अलवर के टपूकड़ा लेकर आए और यहीं दफना दिया था. मृतक की पत्नी भी टपूकड़ा की रहने वाली है.

करीब 27 हड्डियां बरामद हुईं
इस पर दिल्ली क्राइम ब्रांच ने हत्या के आरोपी कमल सिंगला को गिरफ्तार कर लिया और उसकी निशानदेही पर गुरुवार को वह टपूकड़ा पहुंची. क्राइम ब्रांच ने अलवर के तिजारा एसडीएम खेमाराम और टपूकड़ा थाना अधिकारी जयप्रकाश की मौजूदगी में सबूत जुटाने के लिए शव गाड़े वाले स्थान की जेसीबी से खुदाई करवाई. इस दौरान खुदाई में करीब 27 हड्डियां बरामद हुई हैं.

आरोपी ने शव को भी खुदबुर्द करने की कोशिश की थी
क्राइम ब्रांच ने उनको जब्त कर लिया है. आरोपी ने पूछताछ में बताया कि जब मामला क्राइम ब्रांच को सौंपा गया था और उस पर शक की सुई घूम रही थी. इसलिए उसने खुद घटना के आठ महीने बाद वापस मौके पर पहुंचकर खुदाई करवाई और गाड़े गए शव निकालकर उसकी कई हड्डियों को निकलवा कर भिवाड़ी से किशनगढ़ मार्ग पर जगह-जगह बिखेर दिया था. लेकिन, फिर भी कुछ हड्डियां वहां रह गई थी, जिनको क्राइम ब्रांच ने बरामद कर लिया.

मजिस्ट्रेट ने ICU पहुंचकर भर्ती आरोपी महिला को जेल भेजने के दिए आदेशबहरोड़ लॉकअप ब्रेक कांड: पुलिस ने आरोपियों के हाथ बांधकर सड़क पर ये किया हश्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 6, 2019, 11:21 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर