चुनावी रंजिश: अलवर में वोट नहीं दिये तो दबंगों ने काट डाली दलितों की पाइप लाइन

पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम का कहना है कि इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारियां की जा रही है.
पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम का कहना है कि इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारियां की जा रही है.

Electoral rivalry: राजस्थान में दलितों पर अत्याचार (Torture) थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. अलवर में अब पंचायत चुनाव की रंजिश को लेकर दंबगों (Dabangg) ने दलितों की पीने के पानी की लाइन काट डाली.

  • Share this:
अलवर. राजस्थान में दलितों पर दबंगों (Dabangg) का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. ताजा मामला अलवर जिले (Alwar district) में सामने आया है. यहां पंचायत चुनाव की रंजिश के चलते दबंगों ने दलित समाज (Dalit society) के लोगों के पीने के पानी की लाइन को काट दिया और रास्ता बंद कर दिया. दलित समाज के लोगों का यह भी आरोप है कि उनकी महिलाओं से दबंगों द्वारा छेड़छाड़ (Molestation) भी की जाती है और उन्हें गांव से निकालने के प्रयास किये जा रहे हैं.

पुलिस के अनुसार मामला सदर थाना इलाके से जुड़ा है. यहां सोमवार को सुबह चुनावी रंजिश को लेकर बाला डेहरा गांव में दो पक्षों में झगड़ा हो गया. इसमें एक पक्ष दलित समाज का है और दूसरा गुर्जर समाज. दलित समाज के लोगों का आरोप है कि गुर्जर समाज के लोगों ने उन्हें पंचायत चुनाव में वोट नहीं देने पर उनके साथ मारपीट की. बाद में उनके घरों और खेत पर पीने के पानी के लिए डाली गई पाइप लाइन को जगह-जगह से काट दिया गया. बाद उनका रास्ता भी बंद कर दिया.

अलवर में शराब ठेके के सेल्समैन को जिंदा जलाया! दलित समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी



लगभग 50 परिवार हो रहे हैं प्रताड़ना के शिकार
उनका आरोप है कि दलित समाज की महिलाएं घर से बाहर निकलती हैं तो दबंगों द्वारा उनके साथ छेड़छाड़ की जाती है. गांव में उनके लगभग 50 परिवार रहते हैं. वहीं दूसरी तरफ नजदीकी गांव धोकड़ी भी गुर्जर बाहुल्य है. ये सभी मिलकर उन्हें वोट नहीं देने के कारण गांव से निकालने की कोशिश कर रहे हैं.

एक व्यक्ति का सिर फोड़ने का आरोप
उधर गुर्जर समाज के लोगों का कहना है कि ग्राम धोकड़ी के गुर्जरों से इन लोगों का झगड़ा हुआ था. झगड़े में बीच-बचाव के करने के दौरान उनके एक व्यक्ति का सिर फोड़ दिया गया, जिसके चलते यह झगड़ा बढ़ गया. उनका यह भी कहना था कि चुनाव के दौरान इन लोगों के द्वारा उनके काफी पैसे खर्च कराए गए लेकिन उन्हें वोट नहीं दिए.

आरोपियों की गिरफ्तारियां की जा रही हैं
झगड़े की सूचना पर पुलिस-प्रशासन मौके पर पहुंचा कर और मामले को शांत कराया. पुलिस- प्रशासन ने काटी गई पाइप लाइन जुड़वाकर दलित समाज के लोगों के लिए पीने के पानी व्यवस्था करवाई. वहीं अलवर पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने कहा कि दोनों पक्षों में विवाद हुआ था. इस मामले में आरोपियों की गिरफ्तारियां की जा रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज