• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • पहले मॉब लिंचिंग और अब गैंगरेप ने लगाया बदनुमा दाग, देशभर में बदनाम हुआ अलवर

पहले मॉब लिंचिंग और अब गैंगरेप ने लगाया बदनुमा दाग, देशभर में बदनाम हुआ अलवर

फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

अलवर पहले गौतस्करी और उसके बाद में मॉब लिचिंग को लेकर देशभर में अपनी छवि धूमिल कर चुका है. अब हाल में हुई गैंगरेप की वारदात ने जिले पर कभी न मिटने वाला बदनुमा दाग लगा दिया है.

  • Share this:
राजस्थान के मेवात क्षेत्र का अलवर जिला एक बार फिर सुर्खियों में है. कलाकंद के बेहतरीन स्वाद के लिए देशभर में अपनी पहचान रखने वाला अलवर आज आपराधिक गतिविधियों के बढ़ते ग्राफ के कारण देशभर में बदनाम हो चुका है. अलवर पहले गौतस्करी और उसके बाद में मॉब लिंचिंग को लेकर देशभर में अपनी छवि धूमिल कर चुका है. अब हाल में हुई गैंगरेप की वारदात ने जिले पर कभी न मिटने वाला बदनुमा धब्बा लगा दिया है.

यह भी पढ़ें- अलवर गैंगरेप प्रकरण- एसपी राजीव पचार पर गिरी गाज, सरकार ने किया एपीओ

यह बदनुमा धब्बा लगाया है क्षेत्र के पांच युवकों ने. आरोपियों ने इस घिनौनी वारदात को अंजाम दिया ही, बाद में पुलिस ने भी हमेशा की तरह उस पर पर्दा डाले रखा. यही अलवर में पहले भी कई बार हुआ है. अपराधी अपराध करता है और पुलिस उसे या तो दबाने में लगी रहती है या फिर देर से जागती है. उसके बाद लोगों का आक्रोश सामने आने पर तुरत फुरत में कुछ जिम्मेदारों पर कार्रवाईयां होती है और मामला फिर अगली किसी घटना तक के लिए शांत हो जाता है. अलवर जिले में गत एक वर्ष में हुई इन वारदातों ने दहला दिया था दिल.

28 मई, 2018 को नाबालिग से तीन युवकों ने किया गैंगरेप
जिले के नौगावां थाना इलाके में 28 मई को 16 वर्षीय बालिका का तीन युवकों ने अपहरण कर सूने मकान में ले जाकर उससे सामूहिक रूप से दुष्कर्म किया. बाद में जहर देकर उसकी हत्या कर दी और फरार हो गए. परिजन जब उसे ढूंढते हुए मौके पर पहुंचे तो पीड़िता के कपड़े फटे हुए थे और वह उल्टियां कर रही थी. प्रकरण में परिजनों ने तत्कालीन नौगांवा थानाधिकारी पर मामला दर्ज नहीं करने और आरोपियों से राजीनामा करने का दबाव बनाने का आरोप लगाया था.

यह भी पढ़ें- अलवर गैंग रेप केस में एक आरोपी गिरफ्तार, डीजीपी कपिल गर्ग ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस



10 मई को दृष्टिहीन ताई से छीनकर ले गया था मासूम को
इससे पहले 10 मई को जिले के लक्ष्मणगढ़ इलाके में हरसाना गांव का 19 वर्षीय पिंटू भराड़ा क्षेत्र में एक दृष्टिहीन महिला की गोद से उसके देवर की सात माह की बच्ची को छीनकर ले गया था. बाद में गांव के जोहड़ के पास ले जाकर मासूम से दरिंदगी की. ग्रामीणों ने उसे मौके पर ही दबोच लिया था. इस मामले में विशिष्ट न्यायाधीश (अजा-जजा अत्याचार निवारण प्रकरण) जगेंद्र अग्रवाल ने नियमित सुनवाई करते हुए मात्र 22 कार्य दिवस में आरोपी को मामले में दर्ज सभी धाराओं में दोषी करार देते हुए फांसी की सजा सुनाई.

पुलिस गिरफ्त में आरोपी पिंटू भराड़ा। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

छेड़छाड़ की शिकायत करने पहुंचे परिजनों को ही हवालात में किया बंद
खेड़ली थाना इलाके में यहां 10वीं कक्षा में पढ़ने वाली एक 15 वर्षीय नाबालिग लड़की के साथ 23 जुलाई को तीन युवकों ने बदसलूकी करते हुए अगवा करने की कोशिश की थी. लड़की के चिल्लाने के बाद ग्रामीणों ने तीनों को दबोच लिया था, लेकिन जब उन्हें थाने लेकर पहुंचे तो थानाधिकारी ने दबंगई करते हुए शिकायत करने वालों को ही हवालात में बंद कर दिया. यही नहीं थानाधिकारी पर पीड़िता के परिजनों को फर्जी केस में बंद करने की धमकी देने और तीनों लड़कों के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं करवाने की लिखित में सहमति लेने के आरोप भी लगे.



मार्च 2019 में बालिका छात्रावास के वार्डन पर लगे गंभीर आरोप
जिले के किशनगढ़बास में संचालित एक राजकीय बालिका छात्रावास में पढ़ने वाली दो छात्राओं ने वार्डन पर गंभीर आरोप लगाए थे. उन्होंने वार्डन पर अभद्रता करने, घर का काम करवाने और वार्डन के पति व अन्य से जबरन दोस्ती करने का दबाव डालने के आरोप लगाए.



9 मार्च, 2019 को एक और मासूम को बनाया शिकार
मुंडावर थाना इलाके में छह वर्षीय एक मासूम बच्ची के साथ दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है. वहां मासूम से दुष्कर्म करने के बाद आरोपी उसे लहूलुहान हालत में रेलवे ट्रैक के पास छोड़ गए. बाद में पीड़िता को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया.

फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।


मॉब लिंचिंग की इन वारदातों ने पैदा किया तनाव

03 अप्रैल 2017- बहरोड़ इलाके में भीड़ की पिटाई से पहलू खां की मौत. मॉब लिंचिंग का यह मामला देशभर में सुर्खियों में रहा.
09 नवंबर, 2017- गोविंदगढ़ इलाके में उमर खान की पिटाई के बाद गोली मारकर उसकी हत्या कर गई.
23 दिसम्बर 2017- रामगढ़ इलाके में जाकिर खान पर जानलेवा हमला, पुलिस समय पर पहुंच गई. अन्यथा हत्या कर दी जाती.
20 जुलाई 2018- रामगढ़ इलाके में गौ तस्करी के शक में भीड़ ने अकबर उर्फ रकबर पर हमला बोला. पिटाई से अकबर की मौत हो गई.
29 दिसंबर 2018- किशनगढ़बास इलाके में सगीर और उसके साथी की ग्रामीणों ने गौतस्करी के आरोप में जबर्दस्त पिटाई कर की.



यह भी पढ़ें- उदयपुर से अपहृत दुल्हन और आरोपी को जयपुर में पकड़ा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज