Assembly Banner 2021

Rajasthan News: 5 दिनों से एक कबूतर की 'आवभगत' कर रहे पुलिस वाले, पंख पर लिखा है- बैक टू लाहौर

पुलिस इस मामले की जांच के लिए सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट दे चुकी है. लेकिन अभी तक वे पहुंची नहीं हैं.

पुलिस इस मामले की जांच के लिए सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट दे चुकी है. लेकिन अभी तक वे पहुंची नहीं हैं.

अलवर के बहरोड़ पुलिस थाना इलाके में मिला एक संदिग्ध कबूतर (Suspected pigeon) पुलिस के लिये पहेली बना हुआ है. इस कबूतर GPS टैग भी लगा हुआ है.

  • Share this:
अलवर. जिले के बहरोड़ पुलिस थाना इलाके में मिले एक संदिग्ध कबूतर (Suspected pigeon) ने पुलिस-प्रशासन की नींद उड़ा रखी है. यहां कुरेली गांव में पांच दिन पहले एक कबूतर मिला था. उस पर एक टैग लगा हुआ है. बताया जा रहा है कि कबूतर के एक पंख पर 'बैक टू लाहौर' (Back to Lahore) और मोबाइल नंबर भी लिखा हुआ है. उस पर जीपीएस टैग (GPS Tag) भी लगा हुआ है.

पुलिस इस मामले की जांच के लिए सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट दे चुकी है, लेकिन अभी तक जांच एजेंसियां पहुंची नहीं हैं. इसलिए बहरोड़ पुलिस इस कबूतर को थाने में ही रखा हुआ है. उसके ि‍लिए पिंजरा तक मंगवाया गया है. कबूतर की थाने में पिछले 5 दिन से देखभाल की जा रही है.

28 फरवरी की रात को मिला था कबूतर
बहरोड़ थाना अधिकारी विनोद सांखला ने बताया कि निम्भोर चौकी इलाके के कुरेली गांव में गत 28 फरवरी की रात को लगभग 10 बजे सूचना मिली थी कि एक कबूतर किसी युवक के कंधे पर आकर बैठ गया. उसके पंख पर कुछ टैग लगा हुआ है और कुछ मोबाइल नंबर भी लिखे हुये हैं. इस पर युवक ने कबूतर को पकड़कर रखा है. इस सूचना पर पुलिस ने मौके पर जाकर कबूतर देखा और उसकी जांच-पड़ताल की. बाद में पुलिस उसे अपने साथ थाने पर ले आई.
मिलिट्री इंटेलीजेंस को दी सूचना


विनोद सांखला ने बताया कि कबूतर संदेहास्पद है. उच्चाधिकारियों को इस संबंध में अवगत कराया जा चुका है. मिलिट्री इंटेलीजेंस को सूचना दे दी गई है. इसके पैरों में लगी टेपनुमा वस्तु को निकालकर जांच के लिये संबंधित विभाग को भेजा जायेगा. अभी आगे जांच चल रही है. उल्लेखनीय है कि राजस्थान में पाकिस्तान से लगते सीमावर्ती इलाकों श्रीगंगानगर, बीकानेर, जैसलमेर और बाड़मेर में भी अक्सर इस तरह के संदिग्ध पक्षी आते रहते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज