7वीं क्लास की छात्रा से गैंगरेप के चारों आरोपी दोषी करार, सभी को 20-20 साल की जेल

अलवर (Alwar) जिले की (POCSO COURT) ने किशनगढ़ बास थाना इलाके में एक 7वीं कक्षा की छात्रा (7th Class Girl) के साथ हुए गैंगरेप (Gang Rape) केस में गुरुवार को दोषियों को सजा सुनाई. 4 आरोपियों (Gang Rape Accused) अजरुद्दीन, बशारत खान, असरूद्दीन और समसू खान को 20-20 साल के कठोर कारावास की सजा दी गई है.

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: September 12, 2019, 7:53 PM IST
7वीं क्लास की छात्रा से गैंगरेप के चारों आरोपी दोषी करार, सभी को 20-20 साल की जेल
सातवीं कक्षा की छात्रा से गैंगरेप मामले में करीब चार साल बाद दोषियों को सजा सुनाई गई है.
Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: September 12, 2019, 7:53 PM IST
अलवर. राजस्थान के अलवर (Alwar) जिले के किशनगढ़ बास थाना इलाके में एक 7वीं कक्षा की छात्रा (7th Class Girl) के साथ हुए गैंगरेप (Gang Rape) केस में 4 साल बाद गुरुवार को दोषियों को सजा सुनाई गई. जिला पॉक्सो संख्या 4 अलका शर्मा की अदालत ने नाबालिक पीड़िता से गैंगरेप के 4 आरोपियों (Gang Rape Accused) को 20-20 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई. पॉक्सो कोर्ट (POCSO COURT Alwar) ने जेल के साथ चारों रेप के दोषियों पर 25-25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है. विशेष आदालत (पॉक्सो) के इस फैसल के बाद पीड़िता के परिजनों ने देर से ही सही न्याय मिलने पर खुशी जाहिर की है.

बच्ची को घर से उठा ले गए थे
अपर लोक अभियोजक अनूप खटाणा के अनुसार किशनगढ़ बास थाना क्षेत्र के मुसा खेड़ा गांव की इस घटना में एक नाबालिक बच्ची को आरोपी घर से उठा ले गए थे. उसके साथ गैंगरेप करने के चार आरोपियों में अजरुद्दीन, बशारत खान, असरूद्दीन और समसू खान को जांच के बाद कोर्ट ने दोषी माना है. गैंगरेप के इन चारों दोषियों कठोर कारावास के साथ अब पच्चीस-पच्चीस हजार रुपए का आर्थिक दंड जुर्माने के रूप में दिया गया है.

ये भी पढ़ें- कैसे 3 शराबियों ने युवती को रास्ते में रोका और फिर गलत काम किया

यह है पीड़ित बच्ची की दर्दभरी कहानी
अपर लोक अभियोजक अनूप खटाणा ने पीड़िता की दर्ज रिपोर्ट के हवाले से बताया कि पीड़िता सातवीं कक्षा में गांव के सरकारी स्कूल में पढ़ती थी. अपनी दादी के पास सो रही थी तभी 3 जुलाई 2015 रात्रि को उसे घर से उठाकर ले गए और कार से किशनगढ़बास में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया गया. इसके बाद उसे धमकी दी गई कि किसी को बताया तो बदनाम कर दूंगा.

ये भी पढ़ें- राजस्थान में Traffic Rules तोड़ने वालों को कितना देना होगा जुर्माना?
Loading...

गैंगरेप के बाद फिर बुलाया
गैंगरेप के बाद डरी-सहमी पीड़िता को धमकाते हुए 15 जुलाई 2015 की रात्रि को अजरुदीन ने फिर घर से बुलाया. इसके बाद वह अलवर आई थी और अलवर से अजमेर गई थी. इसके बाद नीमच मध्यप्रदेश चली गई जहां पुलिस वालों ने बैठे देखा तो पूछताछ की गई. पूछताछ के बाद बच्ची से यौन हिंसा का पता चला तो परिजनों और अलवर पुलिस को बुलाया गया. बच्ची की शिकायत थाने में दर्ज कराई गई. इसके बाद पुलिस ने जांच में आरोपियों को दोषी मानते हुए कोर्ट में चालान पेश किया. कोर्ट में चालान पेश के जाने के बाद मामले में सुनवाई हुई और आखिर करीब चार साल बाद आरोपियों को दोषी मानते हुए 20 -20 साल की सजा सुनाई गई.

ये भी पढ़ें- लॉकअप ब्रेक कांड में 7 आरोपी कोर्ट में पेश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 7:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...