अलवर में नाबालिग से गैंगरेप, घर से उठा ले गए आरोपी, पुलिस का फिर वही रवैया, देखें क्या है पूरा मामला

अलवर जिले में अपहरण कर गैंगरेप करने की एक और वारदात सामने आई है. जिले के प्रतापगढ़ थाना इलाके में हुई इस वारदात में दो युवक एक नाबालिग लड़की को रात को घर से उठाकर ले गए. बाद में उसे बंधक बनाकर चार बार उससे रेप किया.

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: July 30, 2019, 11:17 AM IST
अलवर में नाबालिग से गैंगरेप, घर से उठा ले गए आरोपी, पुलिस का फिर वही रवैया, देखें क्या है पूरा मामला
प्रतापगढ़ थाना इलाके में हुई वारदात।
Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: July 30, 2019, 11:17 AM IST
अलवर जिले में अपहरण कर गैंगरेप करने की एक और वारदात सामने आई है. जिले के प्रतापगढ़ थाना इलाके में हुई इस वारदात में दो युवक एक नाबालिग लड़की को रात को घर से उठाकर ले गए. बाद में उसे बंधक बनाकर चार बार उससे रेप किया. चौंकाने वाली बात यह कि थानागाजी रेप केस तरह पुलिस इस मामले में भी रिपोर्ट दर्ज करने की बजाय पीड़ित परिवार को एक सप्ताह तक टरकाती रही है. उसके बाद अब सोमवार को गैंगरेप का मामला दर्ज किया गया है.

एक सप्ताह पहले 23 जुलाई को हुई थी वारदात
जानकारी के अनुसार गैंगरेप की वारदात एक सप्ताह पहले 23 जुलाई की बताई जा रही है. प्रतापगढ़ थाने में दर्ज रिपोर्ट के मुताबिक नाबालिग सातवीं कक्षा में पढ़ती है. वह 23 जुलाई की रात को अपने घर में सो रही थी. इसी दौरान दो युवक विक्की पुत्र हीरालाल निवासी चावला और उसका साला पचपड़ी आए. दोनों युवक नाबालिग का मुंह बंद कर बाइक पर उसका अपहरण कर अज्ञात जगह ले गए. वहां दोनों ने उससे रेप किया.

नाबालिग को अगले दिन छोड़ गए आरोपी

उसके बाद दोनों युवकों ने दूसरी जगह एक स्कूल में ले जाकर फिर उंसके साथ रेप किया. आरोपी नाबालिग को दूसरे दिन करीब 2 बजे गांव के पास सुनसान जगह पर छोड़कर चले गए. जाते समय पीड़िता को धमकी दी गई कि इस बारे में किसी को कुछ नहीं बताए, अन्यथा इसका अंजाम बुरा होगा.

पीड़िता की मां ने कहा कई चक्कर लगाए थाने के
पीड़िता की मां ने बताया कि बेटी के घर से गायब होने पर उसे गांव में ढूंढा. जब वह नहीं मिली तो पुलिस थाने में गई. वहां पुलिस ने सुबह आने की बात कह कर वापिस भेज दिया. वह जब अगले दिन थाने गई तो उसकी बेटी की लापता होने रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई. दोपहर करीब 2 बजे बेटी वापिस आ गई और उसने आपबीती बताई तो गैंगरेप की रिपोर्ट दर्ज करवाने थाने गई. तब भी पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज नहीं की. एक सप्ताह तक चक्कर काटने के बाद सोमवार को रिपोर्ट दर्ज की गई है.
Loading...

 

थानाधिकारी बोले आरोप झूठे और बेबुनियाद हैं
दूसरी तरफ थानाधिकारी प्रहलाद सहाय का कहना कि उन्होंने 24 जुलाई को शाम साढ़े 7 बजे के करीब ज्वाइन किया था. पीड़ित परिवार 24 जुलाई को थाने आया था और उन्होंने बेटी के लापता होने की रिपोर्ट दी थी. जब रिपोर्ट दर्ज हो रही थी तब लड़की वापिस आ गई थी. इसके बाद इन्होंने लिखित में दिया था कि वे कोई कार्रवाई नहीं चाहते हैं. आज फिर पीड़िता और उंसके परिजन थाने आए और उन्होंने गैंगरेप की रिपोर्ट दी तो उसे दर्ज कर लिया गया. रिपोर्ट दर्ज नही करने के आरोप झूठे और बेबुनियाद हैं.

चार साल की बच्‍ची से रेप, आंगन से उठा ले गया था आरोपी

राजस्थान में डरा रहीं गैंगरेप की वारदातें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 11:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...