Home /News /rajasthan /

दादा-दादी ने पोती को बालिका वधु बनने से बचाया, मां-बाप करा रहे थे नाबालिग बेटी की शादी

दादा-दादी ने पोती को बालिका वधु बनने से बचाया, मां-बाप करा रहे थे नाबालिग बेटी की शादी

डेमो पिक.

डेमो पिक.

अलवर जिले के बहरोड़ में पुलिस ने दादा-दादी की शिकायत पर एक नाबालिग का विवाह रुकवाकर उसे बालिका वधु बनने से बचा लिया. दरअसल, कक्षा 6 में पढ़ने वाली 13 साल की बालिका का बाल विवाह रविवार को होना था. इसके लिए बच्ची के माता-पिता ने पूरी तैयारी कर ली थी.

अधिक पढ़ें ...
    अलवर जिले के बहरोड़ में पुलिस ने दादा-दादी की शिकायत पर एक नाबालिग का विवाह रुकवाकर उसे बालिका वधु बनने से बचा लिया.  दरअसल, कक्षा 6 में पढ़ने वाली 13 साल की बालिका का बाल विवाह रविवार को होना था. इसके लिए बच्ची के माता-पिता ने पूरी तैयारी कर ली थी.

    दैनिक भास्कर रिपोर्ट के मुताबिक, एसआई विजय तिवाड़ी ने बताया कि भगवाड़ी कलां में रहने वाले रामचंद्र मेघवाल ने शिकायत की थी कि उसकी 13 साल की पोती साक्षी का बाल विवाह हो रहा है.

    उन्होंने बताया कि उनकी पोती की शादी बहरोड़ में हाईवे पर उप परिवहन विभाग के पास एक मकान में हो रही है. यह शादी उसकी मां रीना और पिता नरेंद्र कुमार करवा रहे हैं और बारात हरियाणा के महेंद्रगढ़ के सिसोट गांव से आने वाली है. दूल्हे का नाम नरेंद्र कुमार है.

    पुलिस ने शिकायत को गंभीरता से लिया और तत्काल दादा के बताए मकान में पहुंची, जहां उसने शादी को लेकर की जा रही तैयारियों को रुकवाया और लड़की के माता-पिता को थाने पर लाकर फिर से नाबालिग की शादी नहीं करने के लिए पाबंद किया. हालांकि, पुलिस ने कुछ देर बाद बालिका के परिजनों को छोड़ दिया.

    इस दौरान नाबालिग की शादी को लेकर मेघवाल समाज समिति अध्यक्ष पूर्ण सिंह और समाज के अन्य लोगों ने इसका विरोध जताया. वहीं पुलिस की इस कार्रवाई से यह मामला इलाके में चर्चा का विषय बन गया.

    खबरों के मुताबिक, लड़की के दादा रामचंद ने बताया कि बहू और बेटे बहरोड़ में एक किराए के मकान में रहते हैं, इसी के चलते परिवार में किसी को भी शादी के बारे में पता नहीं लग सका. उन्होंने बताया कि शादी के बारे में गांव के एक युवक ने जब उन्हें कार्ड दिया तब जाकर पता लगा और मैंने तुरंत पुलिस प्रशासन को इसके बारे में अवगत कराया.

    Tags: Rajasthan news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर