Home /News /rajasthan /

Mob lynching in Alwar: भीड़ ने 2 बदमाशों को पकड़कर बुरी तरह पीटा, पुलिस नहीं पहुंचती तो मार डालते !

Mob lynching in Alwar: भीड़ ने 2 बदमाशों को पकड़कर बुरी तरह पीटा, पुलिस नहीं पहुंचती तो मार डालते !

करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने भीड़ के कब्जे से अपहरणकर्ताओं को मुक्त कराया और अपने साथ ले गई.

करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने भीड़ के कब्जे से अपहरणकर्ताओं को मुक्त कराया और अपने साथ ले गई.

अलवर (Alwar) जिले में एक बार फिर मॉब लिंचिंग (Mob lynching) का बड़ा मामला होते-होते रह गया. प्रतापगढ़ (Pratapgarh) थाना इलाके के तालापारा गांव में शनिवार रात को एक युवक का अपहरण कर भाग रहे 5 बदमाशों में से 2 की ग्रामीणों ने पकड़कर बुरी तरह पिटाई (Beating) कर दी.

अधिक पढ़ें ...
अलवर. जिले में एक बार फिर मॉब लिंचिंग (Mob lynching) का बड़ा मामला होते-होते रह गया. प्रतापगढ़ (Pratapgarh) थाना इलाके के तालापारा गांव में शनिवार रात को एक युवक का अपहरण कर भाग रहे 5 बदमाशों में से 2 की ग्रामीणों ने पकड़कर बुरी तरह पिटाई (Beating) कर दी. इस दौरान उनके 3 साथी मौके से भागने में कामयाब हो गए. गुस्साए ग्रामीणों ने बदमाशों की कार को आग ( fire) के हवाले कर दिया. इससे कार जलकर खाक हो गई. पुलिस अधीक्षक देशमुख परिस अनिल के अनुसार अगर पुलिस आरोपियों को नहीं बचाती तो बेकाबू भीड़ उन्हें मौत के घाट (Murder) उतार देती. भीड़ इतनी ज्यादा आक्रोशित थी कि उसने पुलिस पर भी जमकर पथराव (Stone pelting) किया. देर रात हुए इस घटनाक्रम के बाद मौके पर भारी पुलिस जाब्ता तैनात कर दिया गया है.

भीड़ को देखकर भागे बदमाश
कालापारा गांव निवासी पुष्पेंद्र मीणा ने बताया कि शनिवार रात को वह अपने घर में बैठा हुआ था. इसी दौरान उसके घर के सामने एक कार आकर रुकी. उसमें बैठे लोगों ने उसे आवाज लगाई तो वह घर से बाहर आ गया. कार में सवार 5 लोगों ने गाली-गलौज कर उसे जबरन अपनी गाड़ी में पटक लिया और पिटाई शुरू कर दी. चीख-पुकार सुनकर घर वाले बाहर आए और वहां ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई. भीड़ को देखकर बदमाश भागने लगे तो ग्रामीणों ने उनका पीछा किया.

डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने छुड़ाया
ग्रामीणों ने सोली बावड़ी गांव के पास अपहरणकर्ताओं की कार के सामने टेम्पो लगा कर उसे रोक लिया. इस पर 3 बदमाश भाग निकले, लेकिन 2 ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गए. घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची तो भीड़ ने उस पर पथराव कर दिया. इसके बाद थानागाजी और आसपास थानों के जाब्ता मौके पर पहुंचा. करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस ने भीड़ के कब्जे से अपहरणकर्ताओं को मुक्त कराया और अपने साथ ले गई. देर रात एएसपी विशनाराम भी मौके पर पहुंचे. इस संबंध में मामला दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. अपहरण के कारणों का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है.



राजस्थान में नगर निगम और पंचायतीराज चुनाव पूरी ताकत से लड़ेगी आम आदमी पार्टी



सोने-चांदी के इन सैट्स में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को परोसा जाएगा लंच-डिनर

Tags: Crime report, Mob lynching, Rajasthan news, अलवर

अगली ख़बर