अलवर गैंग रेप की घटना के बाद सरिस्का में पर्यटकों की संख्या में आई भारी गिरावट

अलवर में गैंग रेप की घटना के बाद से यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या में भारी गिरावट देखने को मिल रही है. लोग यही सोच रहे हैं कि जब ऐसी घटनाओं के शिकार स्थानीय लोग हो रहे हैं तब बाहरी लोग यहां किस तरह से सुरक्षित महसूस करेंगे.

News18 Rajasthan
Updated: May 16, 2019, 7:35 PM IST
अलवर गैंग रेप की घटना के बाद सरिस्का में पर्यटकों की संख्या में आई भारी गिरावट
अलवर सरिस्का बाघ परियोजना
News18 Rajasthan
Updated: May 16, 2019, 7:35 PM IST
अलवर में गैंग रेप की घटना के बाद से यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या में भारी गिरावट देखने को मिल रही है. लोग यही सोच रहे हैं कि जब ऐसी घटनाओं के शिकार स्थानीय लोग हो रहे हैं तब बाहरी लोग यहां किस तरह से सुरक्षित महसूस करेंगे. अब अलवर के सरिस्का बाघ परियोजना को देखने आने वाले पर्यटकों की संख्या में कमी आ गई है. बता दें कि अलवर सरिस्का बाघ परियोजना पहले से ही चरमरायी है. यहां पिछले एक साल से थोड़ा ज्यादा समय की अवधि में तीन बाघ और बाघिन की मौत हो चुकी है. इसके अतिरिक्ति गत माह में तीन शावकों के गायब हो जाने से भी सरिस्का बाघ परियोजना पर बुरा प्रभाव पड़ा है. इन घटनाओं से भी इसकी छवि धूमिल हुई है.

ऐसी घटनाओं से साफ पता चलता है कि जानवरों के साथ-साथ यह पर्यटकों के लिए भी सुरक्षित जगह नहीं है. बता दें कि सरिस्का बाघ परियोजना क्षेत्रफल में काफी बड़ा है, फिर भी यहां रणथंभौर की तुलना में काफी कम संख्या में पर्यटक आते हैं. लेकिन अब ये संख्या भी अब थानागाजी में हुई गैंग रेप की घटना के बाद से घटने लगी है.



बता दें कि सरिस्का बाघ परियोजना में साधारणत: दो पारी में करीब 15 सफारी जंगल भ्रमण के लिए जाती रही है. छुट्टी के दिन यानि शनिवार और रविवार को सफारी की संख्या 25 हो जाया करती है. लेकिन अलवर गैंग रेप की घटना के बाद से इसमें भारी गिरावट देखने को मिली है. गत 7 मई को जंगल भ्रमण पर मात्र 3 सफारी ही गई. ऐसे ही 8 मई को 1, 9 मई को 3, 10 मई को 2 और 11 मई को अवकाश के दिन मात्र 8 सफारी ही जंगल भ्रमण को गई.

सफारी की इन संख्याओं पर गौर करने से साफ है कि ये सब थानागाजी में हुई गैंग रेप की घटना का ही असर है. बता दें कि राजस्थान में दूसरे और अंतिम चरण का चुनाव 6 मई को संपन्न होने के बाद से गैंग रेप की घटनाओं में बेतहाशा वृद्धि दर्ज की गई है. हर दिन राज्य के किसी भी हिस्से से रेप की रिपोर्ट पुलिस में दर्ज कराई गई है. वहीं दूसरी तरफ यहां सरिस्का बाघ परियोजना में सफारी की संख्या में 7 मई के बाद से लगातार कमी देखी जा रही है.

ये भी देेखें - अलवर गैंगरेप केस- सीएम ने कहा, सात दिन में पेश होगा आरोपियों के खिलाफ चालान

ये भी देखें - अलवर गैंगरेप केस: पीड़िता से मिले राहुल, कहा- दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिलेगी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...