लाइव टीवी

POCSO कोर्ट ने दुष्कर्मी शिक्षक को 20 साल कठोर कारावास की सजा सुनाई

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: November 15, 2019, 11:47 PM IST
POCSO कोर्ट ने दुष्कर्मी शिक्षक को 20 साल कठोर कारावास की सजा सुनाई
शिक्षक ने गुरु और शिष्य के रिश्ते को कलंकित किया

अदालत ने टिप्पणी करते हुए कहा कि एक शिक्षक ने अभिभावकों और विद्यार्थियों का विश्वास तोड़ा है. गुरु और शिष्य के रिश्ते को अपवित्र किया है. ऐसी स्थिति में आरोपी ज्यादा सजा का हकदार है.

  • Share this:
अलवर. एमआईए थाना क्षेत्र के अंतर्गत गुरु और शिष्य के रिश्ते को कलंकित करने के आरोपी को पॉक्सो कोर्ट (POCSO Court) नंबर 2 ने 20 साल कारावास (Twenty Years Imprisonment) की सजा सुनाई. पॉक्सो कोर्ट ने निजी स्कूल के शिक्षक फकरुद्दीन उर्फ फकरु को 20 साल कठोर कारावास की सजा और 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है. विशिष्ट लोक अभियोजक युद्ध किशोर सैनी ने बताया कि 24 फरवरी 2017 को परिवादी ने अलवर के उद्योग नगर थाना इलाके में रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसकी 17 वर्षीय बहन पास के गांव के एक निजी स्कूल में पढ़ती थी. उस स्कूल का शिक्षक फकरुद्दीन उर्फ फकरु 23 फरवरी 2017 की रात को 10 बजे अपने साथियों के साथ घर में घुसकर उसकी बहन का अपहरण (Kidnapped) कर लिया और उससे दुष्कर्म (Rape) किया. इस रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और अदालत में आरोप पत्र पेश किया.

कोर्ट ने 10 हजार का जुर्माना भी लगाया

गवाहों के बाद पॉक्सो अदालत नंबर 2 के पीठासीन अधिकारी एवं विशिष्ट न्यायाधीश जस्टिस बलजीत सिंह ने आरोपी शिक्षक फकरुद्दीन को 20 साल कारावास और 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया.

फैसले में अदालत ने इस प्रकरण में टिप्पणी करते हुए कहा कि एक शिक्षक ने अभिभावकों और विद्यार्थियों का विश्वास तोड़ा है. गुरु और शिष्य के रिश्ते को अपवित्र किया है. ऐसी स्थिति में आरोपी ज्यादा सजा का हकदार है.

ये भी पढ़ें - प्रदेश में जल्द अस्तित्व में आएंगी 48 नई पंचायत समितियां और 1264 पंचायतें !

ये भी पढ़ें - निकाय चुनाव: कल होगा मतदान, 33 लाख से ज्यादा मतदाता निभाएंगे भागीदारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 11:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...