VIDEO: अलवर की फल सब्जी मंडी में तनाव को देखते हुए तैनात हुआ पुलिस जाप्ता

अलवर की फल सब्जी मंडी में आढ़तियों और फुटकर दुकानदारों के बीच विवाद के बाद उपजे तनाव को देखते हुए शनिवार को पुलिस जाप्ता तैनात कर दिया गया.

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: June 15, 2019, 11:01 PM IST
Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: June 15, 2019, 11:01 PM IST
अलवर की फल सब्जी मंडी में आढ़तियों और फुटकर दुकानदारों के बीच शनिवार को एक बार फिर विवाद हो गया. इसके बाद तनाव को देखते हुए पुलिस जाप्ता मंडी में तैनात कर दिया गया है. प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों ने अवैध फुटकर विक्रेताओं को हटाने का आश्वासन दिया है. व्यपारियों ने बताया कि कुछ लोगों ने अवैध रूप से थोक मंडी में सड़क और किसानों की सब्जियों को रखने की जगह पर कब्जा कर लिया है और थोक मंडी में फुटकर दुकानें लगा ली हैं. इसकी अवैध वसूली राजनीतिक संरक्षण में चला रहा है. व्यपारियों को फर्जी मुक़दमों में फंसाने की धमकियां दी जा रही हैं. फल- सब्जी थोक मंडी में सैकड़ों की संख्या में अवैध फुटकर दुकानदारों ने कब्जा जमा लिया है और सड़क पर दुकान लगाकर बैठ जाते हैं. इससे मंडी में लगातार जाम के हालात बने रहते हैं. इससे मंडी में आढ़तियों का कारोबार प्रभावित हो जाता है. इसलिए आढ़तियों ने प्रशासन ने अवैध फुटकर दुकानदारों को मंडी से हटा कर दूसरी जगह दुकान लगाने के लिए ज्ञापन दिया था.

गुंडागर्दी पर उतारू हुए अवैध दुकानदार

इसके बाद मंडी में प्रशासन ने दो दिन से अवैध फुटकर दुकानदारो को हटा दिया था. शनिवार को कुछ दुकानदार गुंडागर्दी पर उतारू हो गए और जबरन मंडी में सड़क पर फुटकर दुकान लगाने लगे और मंडी में आढ़तियों को धमकी देने लगे. इसके बाद व्यापारियों ने विरोध किया और पुलिस को सूचना दी. आढ़तियों सहित लाइसेंस धारी व्यापारी भी मंडी में धरने ओर बैठ गए. मंडी में तनाव की सूचना के बाद अतिरिक्त पुलिस जाप्ता मंडी में तैनात किया गया है. प्रशासन रविवार को अवैध फुटकर विक्रेताओं को हटाएगा.

ये भी पढ़ें-  मंडी भाव: लहसुन का भाव 6000 पहुंचा, जीरा पहुंचा 16500 रुपए

मंडी भाव: गंगानगर में सबसे महंगा 2229 रुपए में बिका गेंहू
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...