लाइव टीवी

मुस्कुराते हुए बच्चों के सवालों के जवाब देते रहे थानाधिकारी
Alwar News in Hindi

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: January 22, 2020, 3:18 PM IST
मुस्कुराते हुए बच्चों के सवालों के जवाब देते रहे थानाधिकारी
थाना प्रभारी बड़सरा ने बच्चों को बताया कि अपराध करना और किसी के द्वारा किए अपराध पर चुप रहना भी अपराध ही माना जाता है.

थाना प्रभारी (Police Station Incharge) ने स्कूली बच्चों (School children) के अलग-अलग सवालों के जवाब मुस्कुराते हुए दिए. उन्होंने कहा कि अपराध करना और किसी के द्वारा किए अपराध पर चुप रहना भी अपराध ही माना जाता है. बच्चों ने पुलिस के कामकाज की पेंटिंग (Painting of police works) भी बनाई.

  • Share this:
अलवर. निजी स्कूल के बच्चों (Private school children) ने स्कूल स्टाफ के साथ किशनगढ़बास पुलिस (Police) थाने का भ्रमण कर पुलिस के कामकाज के बारे में विस्तृत जानकारी ली. बच्चों ने थाना प्रभारी अजीत सिंह बड़सरा से कहा कि अंकल पुलिस के कामकाज (Police work) के बारे में बताइए. उस वक्त वर्दी में मौजूद थानेदार ने सभी बच्चों को बैठाया और थोड़ी देर में वर्दी उतारकर उनके पास चले आए. वे सादे लिबास में बच्चों के सवालों का जवाब देते रहे. बच्चों ने पूछा कि क्या पुलिस मारती है, इस पर उन्होंने कहा कि नहीं ऐसा नहीं है. जो गलत करता है उसे सबक सिखाया जाता है. उन्होंने बच्चों को पुलिस के काम की प्रक्रिया, थानेदार से एसएसपी तक के पद की जानकारी दी.

थाना प्रभारी ने बच्चों की जिज्ञासाओं को शांत किया

थाना प्रभारी ने बच्चों के अलग-अलग सवालों के जवाब मुस्कुराते हुए दिए. थाना प्रभारी बड़सरा ने कहा कि अपराध करना और किसी के द्वारा किए अपराध पर चुप रहना भी अपराध ही माना जाता है. पुलिसकर्मियों ने एफआईआर से लेकर मालखाना, कम्प्यूटर प्रणाली, वायरलेस प्रणाली, जेल खाना, दस्तावेज, सुविधा
डेस्क, पुलिसकर्मियों की मेस प्रणाली, थाने में होने वाली अनेक गतिविधियों सहित यातायात नियमों से अवगत करवाया. साथ ही उनके सवालों का सहज भाव से जवाब देकर उनकी जिज्ञासाओं को शांत किया.

थाना प्रभारी ने बच्चों को पुलिस के काम की प्रक्रिया और थानेदार से एसएसपी तक के पद की जानकारी दी.


बच्चों को भेंट स्वरूप दिए चॉकलेट

थाना प्रभारी बड़सरा ने बच्चों को भेंट स्वरूप चॉकलेट व टॉफी देकर स्कूल के लिए रवाना किया. उनसे थाना प्रभारी ने जाते वक्त पूछा कि पुलिस के बारे में क्या समझे तो बच्चों ने जवाब दिया कि गैरकानूनी काम नहीं करना है, पुलिस से नहीं डरना है, पुलिस हमारी मित्र है और हमारे सहयोग के लिए होती है. बच्चों ने पुलिस के कामकाज की पेंटिंग भी बनाई.ये भी पढ़ें - LIVE पंचायत चुनाव-2020: मतदान जारी, दोपहर 12 बजे तक 35% से अधिक वोटिंग

ये भी पढे़ं - युवक ने लॉज के कमरे में लगाई फांसी, भाई ने कहा- नशा करता था

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 3:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर