अपना शहर चुनें

States

रेल मंत्री पीयूष गोयल का कांग्रेस पर हमला- 35 साल तक राजस्थान में रेलवे का नहीं हुआ विकास

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि 2014 के बाद से अबतक देश में 1433 किलोमीटर रेललाइन के विधुतीकरण का काम हुआ है.
रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि 2014 के बाद से अबतक देश में 1433 किलोमीटर रेललाइन के विधुतीकरण का काम हुआ है.

रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) के मुताबिक 2009 से 2014 के बीच राजस्थान में रेलवे ने 682 करोड़ रुपये का निवेश किया था, जबकि 2014 से 2020 के बीच 2800 करोड़ रुपए का निवेश हुआ है.

  • Share this:
अलवर. राजस्थान के अलवर जिले में ढिगावडा से बांदीकुई तक दिल्ली- जयपुर रेललाइन के विद्युतीकरण का उद्घाटन रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) ने किया. कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीयूष गोयल ने कहा 35 साल तक किसी ने राजस्थान में रेलवे (Railway) के विकास की चिंता नहीं की. जिसकी वजह से राज्य में रेलवे के विकास का काम ठप रहा. साल 2009 से 2014 तक राजस्थान में रेलवे विद्युतीकरण के क्षेत्र में जीरो काम हुआ.

रेल मंत्री ने कहा कि जब 2014 में केन्द्र में मोदी सरकार आई तो प्रधानमंत्री को पर्यावरण की खासी चिंता हुई. देश के बच्चों की हालत खराब हो रही थी, वे बीमार हो रहे थे. इसलिए पीएम ने देश की सभी रेललाइनों पर विद्युतीकरण करने का फैसला लिया. 2014 के बाद 1433 किलोमीटर विद्युतीकरण का काम पूरा हुआ है.

बतौर रेल मंत्री 2009 से 2014 के बीच राजस्थान में रेलवे ने 682 करोड़ रुपये का निवेश किया था, जबकि 2014 से 2020 के बीच 2800 करोड़ रुपए का निवेश हुआ है. 2009 से 2014 के बीच 65 अंडरपास बने, जबकि 2014 के बाद 378 अंडरपास व सबवे बनाये गये. 4 रोड ओवर ब्रिज बने हैं. नई रेल लाइनों में 74 प्रतिशत काम पूरा हुआ है. डबलिंग का भी काम दोगुना तेजी से हो रहा है. 950 किलोमीटर का काम 10 हजार करोड़ की लागत से हुआ है जबकि 13 हजार करोड़ की लागत से 4 हजार किलोमीटर डबलिंग गेज कन्वर्जन का काम जारी है.



दिल्ली- जयपुर रेल मार्ग के विद्युतीकरण के बाद अब इस रूट पर डीजल ईंजन वाली ट्रेनों का परिचालन बंद हो जाएगा. साथ ही दिल्ली-जयपुर-अलवर रूट पर अतिरिक्त ट्रेनों की सुविधा यात्रियों को मिलने की उम्मीद बढ़ गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज