पहलू खान पर गो तस्करी के आरोप की दोबारा जांच करेगी राजस्थान पुलिस

राजस्थान पुलिस दोबारा जांच कर पता लगाएगी कि अलवर में मॉब लिंचिंग के शिकार हुए पहलू खान गो तस्कर थे या नहीं.

News18 Rajasthan
Updated: July 11, 2019, 9:53 PM IST
पहलू खान पर गो तस्करी के आरोप की दोबारा जांच करेगी राजस्थान पुलिस
राजस्थान पुलिस दोबारा जांच कर पता लगाएगी कि अलवर में मॉब लिंचिंग के शिकार हुए पहलू खान गो तस्कर थे या नहीं.
News18 Rajasthan
Updated: July 11, 2019, 9:53 PM IST
राजस्थान पुलिस दोबारा जांच कर पता लगाएगी कि अलवर में मॉब लिंचिंग के शिकार हुए पहलू खान गो तस्कर थे या नहीं. अदालत ने पुलिस को इसकी इजाजत दे दी है. अलवर की एसीजेएम कोर्ट ने पुलिस की अर्जी स्वीकार कर ली है. गौरतलब है कि 24 मई को पुलिस ने चार्जशीट कोर्ट में पेश की थी जिसमें पहलू खान और उनके बेटों को गोतस्करी का आरोपी बनाया गया था. चार्जशीट में उन्‍हें आरोपी बनाए जाने पर पहलू खान के बेटे ने हैरानी जाहिर की थी. बाद में पुलिस ने दोबारा जांच की अनुमति मांगी. पुलिस अब दोबारा से जांच कर सप्लीमेंट्री चार्जशीट पेश करेगी. 5 बिंदुओं पर पुलिस ने जांच की अनुमति मांगी है.

बेहतर होगा हमें मार दे सरकार


चार्जशीट में गोतस्करी का आरोप लगाए जाने पर पहलू खान के बेटे ने कहा था, 'कांग्रेस सरकार ने भी हमारे साथ धोखा किया है. अगर सरकार हमें न्‍याय नहीं दे सकती तो बेहतर होगा कि हमें मार ही दे.' पहलू खान के बेटे इरशाद और आरिफ ने कहा कि चार्जशीट केस के करीब 40 दिन बाद दाखिल हो जाती है, लेकिल अब कई साल बाद राजस्थान पुलिस ने चार्जशीट पेश की, जिसमें हमें दोषी करार दिया गया है.

ये था मामला

बता दें कि पहलू खान अपने बेटे और अन्य लोगों के साथ पिक-अप में दुधारू गाय लेकर आ रहे थे. बहरोड़ अलवर के समीप कुछ तथाकथित गोरक्षकों ने सभी को बुरी तरह पीटा और गायों को छीन लिया था. पिटाई में लगी चोटों के कारण अधेड़ उम्र के पहलू खान ने दम तोड़ दिया, जबकि दोनों बेटों इरशाद और आरिफ के अलावा गांव जयसिंह पुर के आजम को भी गंभीर चोटें आई थी.
ये भी पढ़ें:

सांसद हनुमान बेनीवाल ने की पीएम नरेन्द्र मोदी से मुलाकात
Loading...

दिल्ली की तर्ज पर मोहल्ला क्लीनिक खोलेगी गहलोत सरकार
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...