लाइव टीवी

9 साल बाद खुला कत्ल का राज, पत्नी के प्रेमी ने लाश के टुकड़े कर दफना दिए

News18Hindi
Updated: October 7, 2019, 5:30 PM IST
9 साल बाद खुला कत्ल का राज, पत्नी के प्रेमी ने लाश के टुकड़े कर दफना दिए
ये ही है रविकिशन जो 9 साल पहले दिल्ली से गायब हो गया था और अब अलवर राजस्थान में उसकी हड्डिया मिली हैं.

जब नौ साल बाद पुलिस (Police) को एक मामूली सा क्लू मिला था. लेकिन इसी क्लू के आधा पर पुलिस ने आरोपी का नार्को टेस्ट (Narco Test) कराते हुए गायब चल रहे रवि को हड्डियों के रूप में बरामद कर लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2019, 5:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली (Delhi) के कापसहेड़ा इलाके (Kapas Hera Area) से साल 2011 में किडनैप (Kidnap) हुए एक शख़्स रवि (22 साल) की नौ साल बाद टुकड़ों में लाश (Dead Body) बरामद की गई है. शख्स को मारकर पांच फीट के गड्ढे में गाड़ दिया गया था. लाश के टुकड़े राजस्थान (Rajasthan) के अलवर (Alwar) से बरामद किए गए हैं. इस मामले में क्राइम ब्रांच ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जिसमें मुख्य आरोपी कमल मृतक की पत्नी का आशिक बताया जा रहा है. रवि की हत्या में उसकी पत्नी का आशिक कमल और कमल का ड्राइवर गणेश शामिल थे. पुलिस के मुताबिक, लाश की 25 हड्डियों को बरामद किया गया है. जिन्हें DNA के लिए भेजा जाएगा.

क्या हुआ था मर्डर मिस्ट्री बने रविकिशन के साथ  
22 साल का रवि दिल्ली के कापसहेड़ा इलाके में पत्नी के साथ रहता था. छोटा-मोटा काम धंधा करके वो परिवार के साथ खुश था. लेकिन 2011 में रवि एक दिन गायब हो गया. उसकी पत्नी ने तुरंत पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करा दी. पुलिस ने भी मामले को गंभीरता के साथ संज्ञान लिया. लेकिन दिल्ली पुलिस की लाख कोशिशों के बाद भी कई साल तक रवि का कोई सुराग नहीं लगा. धीरे-धीरे मामला क्लोजर रिपोर्ट की ओर चला गया.

9 साल बाद पुलिस को मिला सिर्फ एक सुराग

एक दिन पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि गायब चल रहे रविकिशन की पत्नी का कोई दोस्त भी है. पुलिस ने इस सूचना की जांच की तो बात सच निकली. अब पुलिस ने रवि की पत्नी और उसके दोस्त संग कड़ाई से पूछताछ शुरू कर दी. लेकिन पुलिस की पूछताछ के सामने दोनों कुछ बोलने को तैयार ही नहीं थी. लाख कोशिशों के बाद भी वो पुलिस को कुछ बताने को राजी नहीं थे.

पुलिस ने ऐसे उगलवाया मर्डर का राज़
रवि की पत्नी के दोस्त के सामने आते ही पुलिस को ये तो भरोसा हो गया था कि जो भी गड़बड़ है यहीं से है. इसके बाद पुलिस ने कोर्ट से अनुमति लेकर रवि की पत्नी के दोस्त का नार्को टेस्ट करा दिया. और नार्को टेस्ट में जो कहानी सामने आई वो बेहद ही डराने और हैरान करने वाली थी.
Loading...

पुलिस को ये बताया नार्को टेस्ट में
आरोपी कमल ने पुलिस को नार्को टेस्ट में बताया कि रवि को किडनैप करने के बाद उसकी पत्नी के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी. लाश को अलवर, राजस्थान के टपूकड़ा ले गए. हत्या के बाद लाश की पहचान न हो इसके लिए लाश उसे ज़मीन के अंदर दबा दिया. और जब दिल्ली पुलिस ने अलवर से बताई हुई जगह पर खोदाई कराई तो रविकिशन की हड्डियां बरामद हुईं. पुलिस ने उनका डीएनए टेस्ट कराने के लिए लैब में भेज दिया है.

क्राइम ब्रांच के डीसीपी जॉय ट्रिकी और एसीपी एस के गुलिया के मुताबिक, घटना वाले दिन रवि को बहला फुसला पर कमल और उसका ड्राइवर गणेश अपनी कार में बिठा लेते हैं. चूंकि कमल को रवि पहले से जानता था इसलिए वो कमल की कार में बैठ जाता है. फिर एक फॉर्म हॉउस के पास सुनसान जगह पर ले जाकर रवि की कमल और उसका ड्राइवर गणेश गला दबाकर हत्या कर देते है. फिर लाश को अलवर ले जाया जाता है, जहां कमल अपनी कन्ट्रक्शन साइट पर रवि की लाश को पांच फिट के गड्डे में दबा देता है.

ये भी पढ़ें-

हरियाणा विधानसभा चुनाव: कांग्रेस में कलह जारी, बीजेपी ऐसे डाल रही डोरे

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 3:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...