लाइव टीवी

अलवर में रोडवेज कर्मियों ने किया परिवहन निगम में भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रदर्शन

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: December 12, 2019, 6:18 PM IST
अलवर में रोडवेज कर्मियों ने किया परिवहन निगम में भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रदर्शन
अलवर में विरोध प्रदर्शन करते रोडवेज कर्मी

अलवर में राजस्थान स्टेट रोडवेज इम्प्लाइज यूनियन (Rajasthan State Roadways Employees Union) के आह्वान पर रोडवेज कर्मियों ने गुरुवार को परिवहन निगम में भ्रष्टाचार (corruption in Transport Corporation) के खिलाफ प्रदर्शन किया.

  • Share this:
अलवर. राजस्थान पथ परिवहन निगम में भ्रष्टाचार (corruption in Transport Corporation) के खिलाफ गुरुवार को जिले के रोडवेजकर्मियों (Roadways workers) ने प्रदर्शन किया और जमकर नारेबाजी की. राजस्थान स्टेट रोडवेज इम्प्लाइज यूनियन (Rajasthan State Roadways Employees Union) के आह्वान पर इस विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया गया था. केंद्रीय बस स्टैंड परिसर में एकत्रित होकर रोडवेज कर्मियों ने अलवर आगार में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ नारेबाजी की और आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार के दोषियों पर कार्रवाई नहीं की जा रही है. प्रदर्शनकारियों ने मुख्यप्रबंधक पर भी गंभीर आरोप लगाए. साथ ही प्रदेश सरकार पर पथ परिवहन निगम को बर्बाद करने और इसे बंद करने की साजिश रचने के भी आरोप मढ़े.

प्राइवेट बसों का परिचालन रोडवेज बस स्टैंड के आसपास से ही हो रहा

रोडवेज कर्मचारियों ने बताया कि कांग्रेस सरकार व निगम प्रशासन मिलीभगत कर घाटे के नाम पर परिवहन निगम को बंद करने जा रही है. परिवहन निगम के घाटे के मुख्य कारणों पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है. पूरे राजस्थान में खुले आम अवैध वाहन चल रहे हैं, इससे निगम को ज्यादा नुकसान हो रहा है. पूरे प्रदेश में निजी वाहनों व लोक परिवहन बसों का परिचालन रोडवेज बस स्टैंड के आसपास से ही हो रहा है. रोडवेज बस स्टैंड से 2 से 5 किलोमीटर की दूरी से निजी बसों के संचालन करने के आदेश का पालन नहीं किया जा रहा है.

निगम में है भ्रष्ट अधिकारियों की भरमार 

प्रदर्शनकारी कर्मचारियों ने आरोप लगाया कि परिवहन निगम में भ्रष्ट अधिकारियों की भरमार है और मुख्यालय इन भ्रष्ट अधिकारियों का बचाव करता नजर आ रहा है, जिससे बेईमान अफसरों का मनोबल बढ़ता जा रहा है और रोडवेज का राजस्व कम हो रहा है. उदाहरण के तौर पर अलवर में 28 नवंबर को स्टेनोग्राफर राजेंद्र  ने 18 सवारियों को बिना टिकट के  छोड़कर परिचालक से सौदा कर लिया.

परिवहन निगम के बसों के परिचालन में दी जा रही घाटे की दुहाई


इस प्रकरण में जब यूनियन की ओर से कार्रवाई की गई तो मुख्यप्रबंधक ने इसे रफा-दफा कर दिया. अभी 15 दिन भी नहीं बीते कि अलवर आगार के मुख्य प्रबंधक की मिलीभगत से एक फर्जी पार्सल संचालक की ओर से निगम को नुकसान पहुंचाने का मामला सामने आया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 6:18 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर