लाइव टीवी

कश्मीर में मारे गए ट्रक ड्राइवर और हेल्पर का शव घरवालों ने लेने से किया इनकार, मांगा मुआवजा

Rajendra Prasad Sharma | News18 Rajasthan
Updated: October 26, 2019, 11:51 AM IST
कश्मीर में मारे गए ट्रक ड्राइवर और हेल्पर का शव घरवालों ने लेने से किया इनकार, मांगा मुआवजा
अलवर में इलियास के घर पर विलाप कर रही महिलाओं को आसपड़ोस और रिश्तेदार महिलाएं ढांढस बंधाने में जुटी हैं. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

आर्मी के लिए दूध लेकर कश्मीर गए ट्रक ड्राइवर इलियास खान और उसके हेल्पर जाहिद खान की बीते गुरुवार को आतंकवादियों ने गोली मार दी थी. साथ ही इनके ट्रक को भी आग लगा दी थी.

  • Share this:
अलवर/भरतपुर. जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) के शोपियां (Shopian) में आतंकवादी हमले (Terrorist Attack) में मारे गए राजस्थान (Rajasthan) के अलवर (Alwar) निवासी ट्रक चालक और भरतपुर (Bharatpur) के परिचालक (हेल्पर) के शव शुक्रवार देर रात उनके पैतृक गांव लाए गए. लेकिन इनके परिजनों ने प्रशासन के सामने अपनी-अपनी मांग रखकर शवों को लेने से इनकार कर दिया. परिवारवालों के अड़े रहने के बाद पुलिस-प्रशासन (Police-Administration) ने ट्रक चालक इलियास खान (Ilias Khan) का शव किशनगढ़ बास के सरकारी अस्पताल और परिचालक जाहिद खान (Zahid Khan) का शव पहाड़ी के सरकारी अस्पताल के मोर्चरी में रखवा दिया है. दोनों मृतकों के परिजनों ने सरकारी नौकरी (Government Job) और मुआवजे (Compensation) की मांग की है. पुलिस-प्रशासन मृतकों के परिजनों को समझाने-बुझाने में जुटे हैं, लेकिन अभी तक उनका गतिरोध कायम है.

गुरुवार रात को आतंकवादियों ने कर दी थी हत्या
अलवर जिले के किशनगढ़बास क्षेत्र के खोहाबास निवासी ट्रक चालक इलियास खान और भरतपुर के पहाड़ी इलाके के पापड़ा गांव निवासी परिचालक जाहिद खान की कश्मीर के शोपियां में आतंकवादियों ने गुरुवार रात गोली मारकर हत्या कर दी थी. ये दोनों ट्रक से आर्मी के लिए दूध लेकर गए थे और वापसी में सेब लेकर लौट रहे थे. उसी दौरान आतंकवादियों ने उन पर हमला बोल दिया और दोनों को गोली मार दी.  आतंकियों ने उनके ट्रक को भी जला दिया था.

15 लाख रुपए मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग

ट्रक ड्राइवर इलियास का शव देर रात लगभग एक बजे उसके पैतृक गांव पहुंचा. वहां परिजनों ने शव लेने से इनकार कर दिया. परिजनों ने प्रशासन के सामने 15 लाख रुपए मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग रखी है. इस पर किशनगढ़बास एसडीएम भगवत मान और तहसीलदार ने गांव में करीब दो घंटे तक समझाइस करते हुए पीड़ित परिवार को विभिन्न योजनाओं के माध्यम से आर्थिक सहायता करवाने का आश्वासन दिया. लेकिन परिजन अपनी मांग पर अड़े रहे. उन्होंने स्पष्ट कह दिया कि जब तक उनकी मांगें पूरी नहीं होगी तब तक वो शव नहीं लेंगे.

कश्मीर में मारे गए ट्रक चालक और परिचालक के शव पहुंचे, परिजनों ने लेने से किया इनकार, मुआवजे-नौकरी की मांग The bodies of the truck driver and operator killed in Kashmir arrived-Family refused to take bodies - demand for compensation-job
मृतक ट्रक चालक इलियास खान


मुआवजा पैकेज की मांग
Loading...

वहीं ट्रक परिचालक जाहिद खान के शव को भी देर रात उनके पैतृक गांव पापड़ा लाया गया. लेकिन यहां भी परिजनों ने मुआवजा पैकेज की मांग को लेकर शव लेने से इनकार कर दिया. जाहिद खान के परिजनों ने 50 लाख रुपए मुआवजे और सरकारी नौकरी की मांग की है. मुआवजे पैकेज को लेकर प्रशासन और ग्रामीणों में वार्ता जारी है, लेकिन गतिरोध बना हुआ है.

कश्मीर में मारे गए ट्रक चालक और परिचालक के शव पहुंचे, परिजनों ने लेने से किया इनकार, मुआवजे-नौकरी की मांग The bodies of the truck driver and operator killed in Kashmir arrived-Family refused to take bodies - demand for compensation-job
आतंकी हमले में मारा गया परिचालक जाहिद खान


कश्मीर में भरतपुर के ट्रक ड्राइवर के हेल्पर की भी आतंकियों ने की हत्या

अलवर: आर्मी के लिए दूध लेकर गए ट्रक चालक की आतंकवादी हमले में मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अलवर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 10:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...