अपना शहर चुनें

States

अलवर में दर्दनाक हादसा: आग लगने से जिंदा जले दादी-पोता, कमरे में रखा था डीजल

घटनास्थल का मंजर देखकर वहां मौजूद हर शख्स की आंखों में आंसू आ गये.
घटनास्थल का मंजर देखकर वहां मौजूद हर शख्स की आंखों में आंसू आ गये.

प्रदेश के अलवर जिले में सोमवार रात को हुये दर्दनाक हादसे (Tragic accident) में दादी-पोते की जिंदा जल जाने से मौत हो गई. हादसे के बाद गांव में मातम पसरा हुआ है.

  • Share this:
अलवर. जिले के टपूकड़ा थाना इलाके में सोमवार रात को हुए दर्दनाक हादसे (Tragic accident) में दादी और मासूम पोते की जिंदा जल जाने से मौत (Death) हो गई. आग कमरे में जल रही मोमबत्ती (Candle) के कारण लगी बताई जा रही है. हादसे के बाद पीड़ित परिवार में कोहराम मच गया. पुलिस ने स्थानीय अस्पताल में शवों का पोस्टमार्टम करवाकर उन्हें परिजनों को सौंप दिया है. हादसे के बाद गांव में मातम पसरा हुआ है.

कपास की गांठ में लगी आग
पुलिस के अनुसार हादसा टपूकड़ा इलाके के बुबकाहेड़ा गांव में सोमवार रात को हुआ. वहां एक मकान के कमरे में 55 साल की बुजुर्ग महिला मरियम अपने 4 साल के पोते अयाज के साथ सो रही थी. सर्दी की वजह से दोनों रजाई ओढ़कर सो रहे थे. रात को कमरे में मोमबत्ती जल रही थी. इस दौरान अचानक मोमबत्ती कमरे में रखी कपास की गांठ पर गिर गई. इससे उसमें आग लग गई.

अलवर में शर्मनाक वारदात: दोस्त की बुजुर्ग मां से 21 साल के युवक ने किया रेप, पोर्न वीडियो देखने की थी लत





कमरे में रखा था डीजल से भरा जरीकेन
कमरे में ही एक जरीकेन में डीजल रखा हुआ था. इससे भी आग और फैल गई. आग की लपटों में घिर जाने की वजह से दादी-पोता बंद कमरे में जिंदा जल गए. कमरे से धुआं और आग की लपटें दिखाई देने के बाद ग्रामीणों और परिजनों ने कड़ी मशक्कत कर उन्हें कमरे से निकाला और स्थानीय अस्पताल लेकर गए. वहां उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर हालत में हायर सेंटर रेफर कर दिया गया. लेकिन बीच राह में ही दोनों की मौत हो गई. घटनास्थल का मंजर देखकर वहां मौजूद हर शख्स की आंखों में आंसू आ गए. ग्रामीण पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाने में लगे हुए हैं. पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज