Alwar: बेकाबू कंटेनर ने राह चलते 2 मजदूरों को कुचला, दोनों की मौत, अफरातफरी मची

भिवाड़ी के समतल चौक पर पंजाब से गत्ते लेकर आ रहे एक कंटेनर ने दोनों को अपनी चपेट में लिया और बुरी तरह से कुचल दिया.
भिवाड़ी के समतल चौक पर पंजाब से गत्ते लेकर आ रहे एक कंटेनर ने दोनों को अपनी चपेट में लिया और बुरी तरह से कुचल दिया.

Big road accident: अलवर के भिवाड़ी में एक अनियंंत्रित कंटेनर (Uncontrollable container) ने राह चलते 2 मजूदरों को रौंद कर उन्हें मौत (Death) के घाट उतार दिया. हादसे के बाद वहां अफरतफरी मच गई.

  • Share this:
अलवर. जिले के भिवाड़ी कस्बे में गुरुवार को एक बेकाबू कंटेनर (Uncontrollable container) ने राह चलते दो मजदूरों को रौंद (Crushed) डाला. हादसे में महिला मजदूर की मौक पर ही मौत हो गई और पुरुष मजदूर ने अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ (Death) दिया. हादसे के बाद मौके पर अफरातफरी मच गई. पुलिस ने दोनों शवों को स्थानीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है.

जानकारी के अनसार हादसे के शिकार हुये फूलवती और कमलेश कुमार दोनों भिवाड़ी में मजदूरी का काम करते थे. वे सवाई माधोपुर के रहने वाले थे. भिवाड़ी में दोनों आसपास ही रहते थे. आज सुबह दोनों बाजार में सामान खरीदने के लिए जा रहे थे. इसी दौरान भिवाड़ी के समतल चौक पर पंजाब से गत्ते लेकर आ रहे एक कंटेनर दोनों को अपनी चपेट में लिया और बुरी तरह से कुचल दिया. सूचना पर फूलबाग थाना पुलिस मौके पर पहुंची. हादसे में महिला फूलवती की मौके पर मौत हो गई. जबकि घायल व्यक्ति कमलेश कुमार को पुलिस तत्काल स्थानीय अस्पताल लेकर गई.

सटोरियों के खिलाफ राजस्थान में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई, 4 करोड़ 19 लाख रुपए नगद बरामद



राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या- 219 पर लगा जाम
वहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुये प्राथमिक उपचार के बाद जयपुर रेफर कर दिया गया. लेकिन रास्ते में ही कमलेश ने दम तोड़ दिया. घटना के बाद समतल चौक पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई. इससे राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या- 219 पर जाम लग गया. पुलिस ने कंटेनर जब्त कर लिया है. मृतकों के परिजनों को सूचना दे दी गई है.

सब्जी मंडी लगने की वजह से सुबह ज्यादा भीड़भाड़ रहती है
दरअसल समतल चौक पर सब्जी मंडी लगने की वजह से सुबह ज्यादा भीड़भाड़ रहती है. इस सड़क पर गड्ढे ओर पानी भरे होने के कारण आये दिन हादसे होते रहते हैं. इस बारे में कई बार स्थानीय लोग पुलिस-प्रशासन को अवगत करा चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं होती है. इसका परिणाम लोगों को अपनी जान देकर भुगतना पड़ रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज