अलवर फिर शर्मसार होने से बचा, ग्रामीणों की सतर्कता ने गैंगरेप जैसी वारदात टली

अलवर जिला एक फिर शर्मसार होने से बाल बाल बच गया. ग्रामीणों की सतर्कता से एक और थानागाजी गैंगरेप जैसा कांड होने से टल गया. अन्यथा बड़ी अनहोनी हो सकती थी.

News18 Rajasthan
Updated: July 13, 2019, 6:36 PM IST
अलवर फिर शर्मसार होने से बचा, ग्रामीणों की सतर्कता ने गैंगरेप जैसी वारदात टली
अलवर के रैणी इलाके में हुई वारदात।
News18 Rajasthan
Updated: July 13, 2019, 6:36 PM IST
अलवर जिला एक फिर शर्मसार होने से बाल बाल बच गया. ग्रामीणों की सतर्कता से एक और थानागाजी गैंगरेप जैसा कांड होने से टल गया. जिले के रैणी थाना इलाके में चार बदमाशों ने थानागाजी केस जैसी घटना को अंजाम देने का प्रयास किया, लेकिन समय रहते ग्रामीणों के मौके पर पहुंच जाने से बड़ी घटना होने से टल गई.

महिला के साथी को पेड़ से बांध दिया


जानकारी के अनुसार शुक्रवार रात को एक महिला अपने साथी के साथ मोटरसाइकिल पर बांदीकुई से आ रही थी. रास्ते में रैणी थाना इलाके में छीड का दीबरा के पास वे किसी काम से रुके. इसी दौरान चार बदमाशों ने आकर उनको पकड़ लिया. बदमाशों ने महिला के साथी को पेड़ से बांध दिया. उसके बाद महिला को जंगल में ले जाकर उससे छेड़छाड़ करने लग गए. महिला के चिल्लाने पर आसपास के ग्रामीण वहां पहुंचे. ग्रामीणों को देखकर आरोपी महिला को वहीं छोड़कर फरार हो गए.

देर थाने पहुंचे महिला और उसके साथी

घटना के बाद देर रात पीड़ित महिला और उसका साथी रैणी पुलिस थाना पहुंचे और आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया. पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है. मामले की जांच राजगढ़ पुलिस अधीक्षक ओमप्रकाश किलानिया को सौंपी गई है.

कुछ समय पहले हुई थी शर्मनाक वारदात
उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों अलवर के थानागाजी इलाके में कुछ युवकों ने इसी तरह से दंपत्ति को पकड़ लिया था. बाद में पति के सामने से महिला से रेप किया था. आरोपियों ने घटना का वीडियो बना लिया और बाद में उसे वायरल कर दिया था. इस वारदात के कारण देशभर में अलवर की बदनामी हुई थी.
Loading...

अलवर गैंगरेप केस- वारदात को अंजाम देने वाले आरोपी करते हैं ये काम

चूरू पुलिस पर क्यों लगे हिरासत में मौत व गैंगरेप के दाग ?
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...