Home /News /rajasthan /

पृथ्वी बचाने के लिए सिरोही कलेक्ट्रेट के बाहर 7 साल से दे रहे धरना

पृथ्वी बचाने के लिए सिरोही कलेक्ट्रेट के बाहर 7 साल से दे रहे धरना

अनोप मंडल. फोटो-(ईटीवी)

अनोप मंडल. फोटो-(ईटीवी)

देश में हमेशा से अपनी मांगों को लेकर धरने प्रदर्शन होते आए हैं. कई बार कई महीनों तक अनशनकारियों को धरने पर बैठना पड़ता था.

    देश में हमेशा से अपनी मांगों को लेकर धरने प्रदर्शन होते आए हैं. कई बार कई महीनों तक अनशनकारियों को धरने पर बैठना पड़ता था. मगर, सिरोही में एक धरना ऐसा भी है जो पिछले करीब सात साल चल रहा है.

    मांग भी ऐसी जिस पर प्रारम्भिक तौर पर सोचना भी भारी है. जी हां पृथ्वी बचाने के मुहिम को लेकर अनोप मंडल के अनुयायियों ने कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर पड़ाव डाल रखा है और जिले के अधिकारी रोज इस रास्ते से गुजरते हैं लेकिन आज दिन इस धरने का कोई निस्तारण नहीं हुआ है.

    धरना दे रहे लोगों का दिन रात यहीं रहना, खाना-पिना और सोना होता है. बारी-बारी से महाराज के नेतृत्व में भाविक यहां आते हैं और अनोपदास महाराज के बताए नियमों की पालना करते हैं. धरने पर बैठे महाराज ने बताया कि उनकी किताब जगत हितकारणी की उच्च स्तरीय जांच हो, जिसमें किसी जाति विशेष का विरोध कर रखा है.

    महाराज के अनुसार देश में बारिश, आपदा और अन्य त्रासदी का कारण केवल उस जाति के लोगों के कारण है. इन भाविकों द्वारा हर महीने और सालानों जुलूस भी निकाला जाता है और हजारों की संख्या में जालोर, सिरोही व पाली के भाविकों को इस अलग प्रकार की विचारधारा से जोड़ने का प्रयास चल रहा है.

    ऐसा नहीं है कि जिला प्रशासन व पुलिस को इस धरने के बारे में पता नहीं है, मगर उनकी मांगों को लेकर प्रशासन भी असहज सा महसूस कर रहा है. हालांकि हर महीने सरकार को इस धरने की रिपोर्ट भी जाती है और कई बार प्रशासन ने धरना अनुयायियों से समझाइश भी की लेकिन नतीजा नहीं निकला.

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर