Home /News /rajasthan /

राजस्थान की जेल में शराब के लिए कैदी ने की भूख हड़ताल, 18 दिन बाद हुई मौत

राजस्थान की जेल में शराब के लिए कैदी ने की भूख हड़ताल, 18 दिन बाद हुई मौत

कैदी नीरू (लाल शर्ट में) को जब अस्पताल ले जाया गया तो वह चलते-चलते गिर रहा था.

कैदी नीरू (लाल शर्ट में) को जब अस्पताल ले जाया गया तो वह चलते-चलते गिर रहा था.

Prisoner Death in Banswara: बांसवाड़ा में एक कैदी ने शराब की मांग को लेकर भूख हड़ताल कर दी. तबीयत बिगड़ने पर उसे अस्पताल में भर्ती कराया. वहां इलाज के दौरान 18वें दिन उसकी मौत हो गई. पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसे परिजनों को सौंप दिया है.

अधिक पढ़ें ...

    रिपोर्ट – आकाश सेठिया

    बांसवाड़ा. राजस्थान के आदिवासी बाहुल्य बांसवाड़ा जिले में एक कैदी ने शराब उपलब्ध कराने की मांग को लेकर भूख हड़ताल कर दी. करीब 18 दिन बाद उपचार के दौरान कैदी की मौत हो गई. इस कैदी को मारपीट के आरोप में पकड़ा गया था. वह आदतन शराबी बताया जा रहा है. बाद में उसने जेल में शराब को उसकी जरूरत बताते हुये उसकी मांग की. मांग पूरी नहीं होने पर उसने खाना पीना छोड़ दिया. इसके चलते वह काफी कमजोर हो गया. दो दिन पहले उपचार के दौरान उदयपुर के अस्पताल में उसकी मौत हो गई. इससे जेल प्रशासन में हड़कंप मच गया. पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवाकर उसे परिजनों को सौंप दिया है.

    जानकारी के अनुसार शराब के लिये भूख हड़ताल करने वाले कैदी नीरू को सदर थाना पुलिस ने 6 अक्टूबर को स्थायी वारंटी के तौर पर पकड़ा था. बाद में उसे जेल भेज दिया गया. कैदी नीरू ने जेल में जिंदा रहने के लिए 7 अक्टूबर को जेल प्रशासन से शराब मांगी. जब उसे शराब नहीं मिली तो उसने खाना-पीना बंद कर दिया. खाना पीना छोड़ देने से उसकी हालत बिगड़ गई. लगातार 11 दिन तक कुछ नहीं खाने के कारण 17 अक्टूबर को उसकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई. इस पर उसे बांसवाड़ा के एमजी अस्पताल लाया गया था.

    19 अक्टूबर को उदयपुर रेफर किया गया था

    इस दौरान नीरू चलते-चलते गिर रहा था. डॉक्टर को दिखाकर पुलिस कैदी नीरू को वापस सेंट्रल जेल ले गई. वहां करीब 3 घंटे बाद उसकी हालत ज्यादा बिगड़ने लगी तो उसे दोबारा अस्पताल में भर्ती कराया गया. अस्पताल प्रशासन ने कैदी 19 अक्टूबर को उदयपुर रेफर कर दिया. वहां इलाज के दौरान 24 अक्टूबर को उसकी मौत हो गई.

    अभी तक नहीं हो पाया है मौत के कारणों का खुलासा

    इसके बाद सेंट्रल जेल उदयपुर और वहां की पुलिस ने उसका पोस्टमार्टम कराया. नीरू के टीबी की बीमारी होने की बात भी सामने आई है. अभी तक मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर ही मौत के वास्तविक कारणों का पता चल पाए गा. बांसवाड़ा सेंट्रल जेल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट मान सिंह ने कैदी नीरू की मौत की पुष्टि की है.

    जेल में शराब के लिये हड़ताल का पहला मामला

    उल्लेखनीय है कि अभी तक जेल में विभिन्न मांगों को लेकर भूख हड़ताल की खबरें कई बार सामने आई हैं. लेकिन शराब के लिए भूख हड़ताल करने का यह संभवतया पहला मामला है.

    Tags: Jail Diary, Prisoners, Rajasthan latest news, Rajasthan News Update

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर