Home /News /rajasthan /

शर्मनाक! गोबर में फेंकी गई नवजात बच्ची, पुलिस ने अस्पताल में कराया भर्ती

शर्मनाक! गोबर में फेंकी गई नवजात बच्ची, पुलिस ने अस्पताल में कराया भर्ती

अरथूना इलाके के जौलाना गांव में ग्रामीणों ने नवजात को गोबर में पड़ा देखा. इस पर ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. सांकेतिक चित्र।

अरथूना इलाके के जौलाना गांव में ग्रामीणों ने नवजात को गोबर में पड़ा देखा. इस पर ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. सांकेतिक चित्र।

राजस्थान (Rajasthan) के बांसवाड़ा जिले (Banswara district) में बेहद शर्मनाक (Shameful) मामला सामने आया है. यहां अरथूना (Arthuna) थाना इलाके में एक जिंदा नवजात कन्या (Newborn girl) को गोबर में फेंक दिया गया.

बांसवाड़ा. राजस्थान (Rajasthan) के बांसवाड़ा जिले (Banswara district) में बेहद शर्मनाक (Shameful) मामला सामने आया है. यहां अरथूना (Arthuna) थाना इलाके में एक जिंदा नवजात कन्या (Newborn girl) को गोबर में फेंक दिया गया. गोबर के पास कंटीली घास होने के कारण नवजात के शरीर पर कई खरोंचे (Scratch) भी लग गईं. नवजात बालिका को जिला मुख्यालय पर स्थित राजकीय चिकित्सालय में भर्ती (Hospitalized) कराया गया है. वहां उसकी हालत अब ठीक है.

जौलाना गांव में सोमवार को मिली नवजात
जानकारी के अनुसार घटना एक दिन पुरानी सोमवार की बताई जा रही है. अरथूना इलाके के जौलाना गांव में सोमवार को ग्रामीणों ने नवजात को गोबर में पड़ा देखा. इस पर ग्रामीणों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. सूचना पर अरथूना थाना पुलिस मौके पर पहुंची. इस दौरान वहां ग्रामीणों की काफी भीड़ जमा हो गई. गोबर के आसपास कंटीली घास भी थी. इसके कारण नवजात के कई खरोंचे भी लग गईं. पुलिस ने नवजात को वहां से उठाकर जिला मुख्यालय के महात्मा गांधी चिकित्सालय के शिशु वार्ड मे भर्ती करवाया. वहां वह उपचाराधीन है.

पुलिस खंगाल रही है सीएचसी व पीएचसी का रिकॉर्ड
अरथूना थाना पुलिस ने इस संबंध में अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर इसकी जांच शुरू कर दी है. पुलिस आसपास के क्षेत्र में स्थित सीएचसी व पीएचसी का भी रिकॉर्ड खंगाल रही है. फिलहाल नवजात की स्थिति ठीक बताई जा रही है.

गत 6 माह में काफी बढ़े हैं इस तरह के मामले
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में पिछले करीब 6 माह में नवजात बच्चों के फेंकने के कई मामले सामने आ चुके हैं. ये नवजात कूड़ेदान, कुएं या फिर सड़क पर फेंके हुए मिले हैं. गत 6 माह में हुए केसों में से 3 नवजात बच्चे जिंदा हालत में मिले हैं तो 3 मृत हालत में. अभी तक इनमें से किसी के भी परिजनों का कोई भी सुराग पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है.

निकाय चुनाव: BJP ने तैयार की रणनीति, इन 10 दिग्गज नेताओं को उतारा मैदान में

29 नवंबर से सेना करेगी दूसरा बड़ा युद्धाभ्यास, पहली बार शामिल होंगे ये हथियार

Tags: Crime report, Rajasthan news, Rajasthan police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर