अपना शहर चुनें

States

बारां में लहसुन के भाव नहीं मिलने से एक और किसान ने तोड़ा दम

मृतक किसान। फोटो: न्यूज18 राजस्थान
मृतक किसान। फोटो: न्यूज18 राजस्थान

मौत के शिकार के हुए किसान का दम लहसुन के कट्टों पर ही निकल गया. गत डेढ़ माह में लहसुन की फसल जिले के 5 किसानों की मौत का कारण बन चुकी है.

  • Share this:
बारां जिले में लहसुन का भाव नहीं मिलने से परेशान एक और किसान की सांसें थम गईं. मौत के शिकार के हुए किसान का दम लहसुन के कट्टों पर ही निकल गया. गत डेढ़ माह में लहसुन की फसल जिले के 5 किसानों की मौत का कारण बन चुकी है.

बारां सदर थाना इलाके के गोरधनपुरा गांव में किसान द्वारकीलाल धाकड़ लहसुन के भाव नहीं मिलने से परेशान था. उसके ऊपर तीन लाख का बैंक और चार लाख रुपयों का साहूकारों का कर्जा था. लहसुन की फसल के भाव नहीं मिलने और ऋण चुकाने की चिंता के कारण वह काफी परेशान था. उसका अभी तक खरीद केन्द्र पर लहसुन बेचने के लिए नंबर भी नहीं आया था. शनिवार शाम को घर पर ही लहसुन की सफाई करने के दौरान ही चिंता में डूबा द्वारकीलाल लहसुन के ऊपर ही गिरकर बेहोश हो गया. परिजन द्वारकीलाल को जिला चिकित्सालय लाए, जहां पर चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

सदर थानाप्रभारी नंद सिंह का कहना कि किसान द्वारकीलाल कल शाम को लहसुन कट्टों को जमाने और सफाई का काम कर रहा था. इसी दौरान वह वहीं बेहोश हो गया, जिसे बाद में चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया. मृतक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है. मृतक किसान के बेटे धनराज ने बताया कि 22-23 बीघा में लहसुन की फसल की थी. लहसुन अच्छा हुआ. अभी तक सरकारी खरीद में लहसुन बेचने का नंबर नहीं आया है. कुछ समय पहले बाजार में करीब 100 कट्टे लहसुन बेचा था। उसके छह-सात रुपए प्रतिकिलो के भाव मिले थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज