अपना शहर चुनें

States

बारां: नदी से निकलकर गांव में घुसा मगरमच्छ, ग्रामीणों में दहशत, वनकर्मियों ने पकड़ा

घटना जिले के नियाना पंचायत के मानपुरा गांव में हुई. वहां ग्रामीणों ने सुबह करीब 11 बजे गांव में मगरमच्छ को घूमते देखा तो उनके होश पाख्ता हो गए और वहां दहशत फैल गई. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
घटना जिले के नियाना पंचायत के मानपुरा गांव में हुई. वहां ग्रामीणों ने सुबह करीब 11 बजे गांव में मगरमच्छ को घूमते देखा तो उनके होश पाख्ता हो गए और वहां दहशत फैल गई. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

बारां (Banran) जिले में शनिवार को एक मगरमच्छ (Crocodile) नदी से निकलकर गांव में घुस (Enter the village) गया. गांव में मगरमच्छ देखकर ग्रामीणों (Villagers) के होश उड़ गए. वन विभाग की टीम ने काफी देर मशक्कत कर मगरमच्छ को पकड़ा (Caught) और उसे फिर से नदी (River) में छोड़ा.

  • Share this:
बारां. जिले में शनिवार को एक मगरमच्छ (Crocodile) नदी से निकलकर गांव में घुस (Enter the village) गया. गांव में मगरमच्छ देखकर ग्रामीणों (Villagers) के होश उड़ गए. ग्रामीणों ने तत्काल इसकी सूचना वन विभाग (Forest department) को दी. इस पर गांव पहुंची वन विभाग की टीम ने काफी देर मशक्कत कर मगरमच्छ को पकड़ा (Caught) और उसे फिर से नदी (River) में छोड़ा. तब जाकर ग्रामीणों की जान में जान आई.

मानपुरा गांव में घुसा मगरमच्छ
जानकारी के मगरमच्छ घुसने की घटना जिले के नियाना पंचायत के मानपुरा गांव में हुई. वहां ग्रामीणों ने सुबह करीब 11 बजे गांव में मगरमच्छ को घूमते देखा तो उनके होश पाख्ता हो गए और वहां दहशत फैल गई. ग्रामीणों ने इसकी सूचना सरपंच को दी. सरपंच ने तत्काल वन विभाग को इस बारे में सूचित किया. सूचना पर वनकर्मी मुकेश मीना की टीम के साथ मौके पर पहुंचे. वन विभाग की टीम ने काफी देर तक मशक्कत कर मगरमच्छ पर काबू पाया. बाद में उसे अपनी पिकअप में डालकर ले गए. टीम ने मगरमच्छ को कालीसिंध नदी में छोड़ दिया.

चंबल नदी की दाईं मुख्य नहर से आने का है अंदेशा
गांव के पास से चंबल नदी की दाईं मुख्य नहर निकलती है. अंदेशा है कि मगरमच्छ इसी नहर से निकलकर गांव में घुसा है. इस नहर में पहले भी मगरमच्छ आ चुका है.



कोटा सिटी से इस बार पकड़े हैं 65 मगरमच्छ
उल्लेखनीय है कि कोटा संभाग में चंबल समेत कई नदियां हैं. इनमें बड़ी संख्या में मगरमच्छ हैं. ये मगरमच्छ कई बार नदियों से निकलकर आबादी क्षेत्र में आ घुसते हैं. इस बार हुई भारी बारिश के वजह से चंबल नदी कई बार उफान पर रही. कोटा सिटी चंबल किनारे बसी होने के कारण दर्जनों मगरमच्छ कोटा शहर में घुस चुके हैं. कोटा में इस सीजन में वन विभाग आबादी क्षेत्र से अब तक 65 मगरमच्छ पकड़ चुका है. कोटा सिटी में लोग मगरमच्छों के परेशान हो चुके हैं.

जयपुर: 7वीं कक्षा की छात्रा से रेप, पीड़िता हुई गर्भवती, आरोपी फरार

बेकाबू हुआ डेंगू: पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 6,719 तक पहुंचा, अब तक 8 की मौत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज