लाइव टीवी

शव के साथ सड़क जाम करने पर पूर्व प्रधान और सरपंच समेत 100 से अधिक ग्रामीणों के खिलाफ दर्ज हुई FIR

Vipin Tiwari | News18 Rajasthan
Updated: December 11, 2019, 6:36 PM IST
शव के साथ सड़क जाम करने पर पूर्व प्रधान और सरपंच समेत 100 से अधिक ग्रामीणों के खिलाफ दर्ज हुई FIR
गत सोमवार को इस तरह सड़क पर शव रखकर ग्रामीणों ने लगाया था जाम

प्रदेश के बारां जिले में शव (dead body) को सड़क पर रखकर मुआवजा के लिए जाम लगाने (road blocking) पर ग्रामीणों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. छबड़ा थाने में इस मामले में पूर्व प्रधान और सरपंच समेत 100 से अधिक लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है.

  • Share this:
बारां. शव के साथ सड़क जामकर (road blocking) विरोध प्रदर्शन करना गांव के लोगों को महंगा पड़ गया है. जिले के छबड़ा थाना क्षेत्र में सोमवार को कंटेनर की टक्कर से त्रिलोकनाथ नाम के एक किशोर की मौत हो गई थी. आक्रोशित लोगों ने छबड़ा-सालपुरा रोड पर शव (dead body) को रखकर जाम लगा दिया था. यह रोड स्टेट हाईवे- 51 (State Highway-51) के रूप में जाना जाता है. उस मामले को लेकर बुधवार को छबड़ा पुलिस ने 100 से ज्यादा ग्रामीणों के खिलाफ केस दर्ज किया है. त्रिलोकनाथ खोपर गांव का निवासी था.

ट्रक चालक हुआ गिरफ्तार, बने नामजद आरोपी   

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज व तकनीकी जांच के आधार पर टैंकर चालक जितेन्द्र योगी को मोतीपुरा थर्मल  क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया  है. साथ ही ट्रक को भी जब्त कर लिया है. इसके अलावा शव को स्टेट हाईवे 51 पर रख जाम लगाने वालों के खिलाफ जो छबड़ा थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है उसमें पुलिस ने  पूर्व प्रधान गोकुल रावल व सरपंच जानकी लाल नागर समेत 10 लोगों को नामजद किया है, 100 से अधिक अन्य  ग्रामीण भी आरोपी बनाए गए हैं.

शव के अपमान और आम जन की परेशानी को बनाया आधार 

सीआई रामानंद यादव ने बताया कि खोपर गांव में ट्रक की टक्कर से त्रिलोकनाथ की मौत के बाद खोपर के ग्रामीणों ने सोमवार को हाईवे- 51 पर शव के साथ जाम लगा दिया था.

छबड़ा थाना के सीआई रामानंद यादव ने दी पूरे मामले की जानकारी


शव की बेकदरी व जाम से आमजन को परेशानी होने पर प्रदर्शनकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है. घटना के दिन ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शव के साथ प्रदर्शन करने को गलत बताते हुए कहा था कि सरकार ऐसा कानून लाएगी जिससे लोग शव के साथ प्रदर्शन न कर सकें. 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बारां से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 6:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर