अपना शहर चुनें

States

पहले किया सोशल मीडिया पर सुसाइड नोट वायरल, फिर लगाया मौत को गले

फोटो-(ईटीवी)
फोटो-(ईटीवी)

बारां में एक युवक ने सोशल मीडिया पर सुसाइड नोट का मैसेज वायरल करने के बाद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मामला शाहाबाद क्षेत्र के देवरी कस्बे का है, युवक ने आत्महत्या से पहले सुसाइड नोट लिखकर सोशल मीडिया पर वायरल किया.

  • Share this:
बारां में एक युवक ने सोशल मीडिया पर सुसाइड नोट का मैसेज वायरल करने के बाद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मामला शाहाबाद क्षेत्र के देवरी कस्बे का है, युवक ने आत्महत्या से पहले सुसाइड नोट लिखकर सोशल मीडिया पर वायरल किया.

मैसेज वायरल होते ही देवरी कस्बे में हड़कंप मच गया और लोग पीड़ित युवक की तलाश में जुट गए, लेकिन तलाशी में देरी हो गई और तब तक बीलखेड़ामाल रोड पर युवक ने खेत पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सूचना मिलते ही कस्बाथाना थानाधिकारी मौके के लिए रवाना हो गए और मौके पर पहुंचकर शव को लोगों की मदद से नीचे उतरवाया.

वहीं सुसाइड नोट में दो लोगों पर पैसे हड़पने का आरोप लगाया है. सुसाइट नोट देवरी कस्बा निवासी युवक कालीचरण मेहता ने मरने से पहले मां काली कंस्ट्रक्शन कम्पनी देवरी के लेटर हेड पर लिखा. सुसाइड नोट में दो लोगों से पेटी कांन्ट्रेक्ट पर कार्य करने का आरोप लगाया है, जिनमें देवरी निवासी शिवराज सिंह शक्तावत व कोटा निवासी मधू सूधन गालव हैं.



दोनों पर लगभग 24 लाख रुपए की राशि हड़पने का आरोप लगाते हुए देनदारी बढ़ने और पैसा नहीं मिलने पर आत्महत्या की बात लिखी है. निर्माण में शाहाबाद सब ट्रेजरी भवन सहित कई भवनों के निर्माण कार्य का उल्लेख किया है. सुसाइड नोट में मौत के लिए दोनों लोगों को जिम्मेदार ठहराते हुए राशि वसूली कर पत्नि और बच्चों को दिलाने व दोनों आरोपियों को सजा दिलवाने की बात कही है.
नोट में जिला कलेक्टर, एसपी, एसडीएम और थानाधिकारी से भी मामले में न्याय की गुहार की गई है. वहीं इन दोनों के अलावा किसी को भी परेशान नहीं करने की बात लिखी है. पुलिस ने सुसाइड नोट और परिजनों की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया है, लेकिन शाहाबाद चिकित्सालय में पोस्टमार्टम के बाद अब परिजन और ग्रामीण शव को ले जाने को लेकर मना कर रहे हैं. परिजन और ग्रामीण मांग कर रहे हैं कि जब तक आत्महत्या के जिम्मेदार उन दो ठेकेदारों को पुलिस गिरफ्तार नहीं करती तब तक वे शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे.

फिलहाल पुलिस उप अधीक्षक, एसडीएम सहित प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारी ग्रामीणों को शव का अंतिम संस्कार कराने को राजी करने में लगे हैं.

मृतक के भतीजे का कहना कि मेरा चाचा दो ठेकेदारों के साथ काम करता था. इन दोनों ठेकेदार, शिवराज सिंह शक्तावत और मधूसूदन मालव से 24 लाख की राशि लेनी थी, लेकिन यह ठेकेदार उससे पैसा ना देकर उल्टी धमकी देते थे इससे परेशान होकर आत्महत्या कर ली है.

कस्बाथाना थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह देवड़ा का कहना कि देवरी निवासी युवक कालीचरण मेहता ने खेत में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है, वहीं एक सुसाइड नोट सोशल मीडिया पर डाला. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज