लाइव टीवी

दीपावली पर अच्छी बिक्री की उम्मीद में मिट्टी के दीये बनाने में जुटे कुम्हार

Vipin Tiwari | News18 Rajasthan
Updated: October 22, 2019, 11:29 AM IST
दीपावली पर अच्छी बिक्री की उम्मीद में मिट्टी के दीये बनाने में जुटे कुम्हार
चाक पर मिट्टी के दीये को आकार देता कुम्हार

दीपावली पर धन लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए मिट्टी के दीये बनाने वाले कुम्हारों के चाक ने गति पकड़ ली है.

  • Share this:
बारां. राजस्थान (Rajasthan) के बारां (Baran) जिले में दीपावली पर धन लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए मिट्टी के दीये बनाने वाले कुम्हारों के चाक ने गति पकड़ ली है. उन्हें इस बार अच्छी बिक्री की उम्मीद है. कुम्हारों की बस्ती में उनके परिवार मिट्टी का सामान तैयार करने में व्यस्त हो गए हैं. घरों में मिट्टी के दीये, मटकी आदि बनाने के लिए माता-पिता के साथ उनके बच्चे भी हाथ बंटा रहे हैं. कोई मिट्टी गूंथने में लगा है तो किसी के हाथ चाक पर मिट्टी के बर्तनों को आकार दे रहे हैं.

मिट्टी के बर्तनों को व्यवस्थित रखने का जिम्मा परिवार के लोग संभाल रहे

इस दौरान पके हुए मिट्टी के बर्तनों को व्यवस्थित रखने का जिम्मा परिवार के लोग संभाल रहे हैं. मालूम हो कि दीपावली पर्व पर धन लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए मिट्टी के दीपक जलाए जाते हैं. मिट्टी गढ़कर उसे आकार देने वालों पर शायद धन लक्ष्मी मेहरबान नहीं है, जिस चलते वे अपने परंपरागत धंधे से विमुख होते जा रहे हैं. दीपावली पर्व पर मिट्टी का सामान तैयार करना उनके लिए महज एक सिजनल धंधा (seasonal occupation) बनकर रह गया है. अगर वे दूसरा धंधा नहीं करेंगे तो दो जून की रोटी जुटा पाना उनके लिए मुश्किल हो जाएगा.

कुम्हार-potters
सिर्फ दीपावली और गर्मी के सीजन में ही होती है कुम्हारों की कमाई


सिर्फ दीपावली और गर्मी के सीजन में ही होती है कमाई

मिट्टी के बर्तनों के कारोबार से जुड़े कुम्हार महिला-पुरुष का कहना है कि दीपावली और गर्मी के सीजन में मिट्टी से निर्मित बर्तनों की मांग बढ़ जाती है, लेकिन बाद के दिनों में वे मजदूरी कर किसी तरह अपना और अपने परिवार का पेट पालते हैं. सरकार की ओर से किसी तरह की सहायता नही मिल रही है.

वहीं दूसरी तरफ बाजारों में इलेक्ट्रानिक्स झालरों की चमक दमक के बीच मिट्टी के दीपक की रोशनी धीमी पड़ती जा रही है. इस चलते लोग दीपकों का उपयोग महज पूजन के लिए ही करते हैं. इस कारण उन्हें अपनी मेहनत का उचित मेहनताना नहीं मिल रहा. यही कारण है लोग इस काम को धीरे-धीरे छोड़ रहे हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें:- BJP नेता पूनिया ने कहा-CMअपनी कुर्सी बचाने, बेटे की दुकान खुलवाने में व्यस्त

ये भी पढ़ें:- 30 तोला सोना, नकदी ले फरार हुई प​त्नी, प्रेमी संग सोशल मीडिया पर डाली फोटो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बारां से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 11:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...