Assembly Banner 2021

राजस्‍थान में बड़ा हादसाः अवैध खनन के दौरान ढही बजरी, दबे 7 मजदूरों में से 4 की मौत, देखें VIDEO

दबे हुए लोगों को बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है.

दबे हुए लोगों को बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है.

बारां जिले के अटरू कस्बे के पास पार्वती नदी के किनारे हो रहा था बजरी खनन (Gravel mining). अचानक मिट्टी ढहने से मजदूर उसके नीचे दबे. बचाव (Rescue) कार्य जारी.

  • Share this:
बारां. अटरू कस्बे के पास पार्वती नदी (Parvati River) के किनारे हो रहे अवैध बजरी खनन के दौरान एक बड़ा हादसा हो गया. इस दौरान बजरी के खदान के अचानक ढह जाने से करीब 7 लोग दब गए थे. बचाव कार्य के दौरान 4 मजदूरों की मौत हो गई है. बताया जा रहा है कि प्रशासन और पुलिस की पाबंदियों के बावजूद यहां पर अवैध तौर पर बजरी खनन (Gravel Mining) का काम जोरों पर है और कई बार लोग हादसे का शिकार भी हो चुके हैं. बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त करीब इस जगह 1 दर्जन से ज्यादा मजदूर काम कर रहे थे.

हादसे की खबर मिलते स्थानिय लोग, पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची और बचाव कार्य शुरू किया. करीब 2 घंटे चले रेस्क्यू ऑपरेशन में निकाले गए इन सात मजदूरों में से 4 की मौत हो गई. वहीं 3 अन्य मजदूरों को गंभीर घायल अवस्था में इलाज के लिए अटरू चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है. मृतकों में 2 मजदूर नाबालिक,1 महिला और 1 पुरुष शामिल हैं.

अवैध खनन ने ली जान



खान मंत्री प्रमोद जैन भाया के गृह जिले बारां में अवैध खनन के चलते लगातार हादसे हो रहे हैं. इन हादसों में लोगों की जान भी जा रही है. गुरुवार को भी जिले के अटरू कस्बे के पास पार्वती नदी के किनारे बजरी का अवैध खनन करने गए मजदूर काल के गाल में समा गए. दरअसल बारां जिले के अटरू कस्बे के पास से गुजर रही पार्वती नदी में अवैध खनन का काम किया जा रहा था. आज भी कुछ मजदूर इस इलाके में नदी की तलहटी में बनी खाइयों में बजरी का खनन कर रहे थे.
देखें वीडियो

Youtube Video


खनन के काम के दौरान ऊपर मौजूद मिट्टी और बजरी का बड़ा हिस्सा इन मजदूरों पर गिर पड़ा. बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त करीब इस जगह 1 दर्जन मजदूर काम कर रहे थे जिनके दबने की आशंका जताई जा रही है. हादसे की खबर मिलते ही आस-पास के लोग, पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची. लोगों को मलबे से निकालने का काम शुरू कर दिया गया है. बजरी की खदान में दबे 3 मजदूरों के शव अब तक निकाले जा चुके हैं. वहीं गंभीर रूप से घायल लोगों को अटरू चिकित्सालय उपचार के लिए भेजा गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज