होम /न्यूज /राजस्थान /RSS प्रचारक को दी पाकिस्तान के नाम से जान से मारने की धमकी, पुलिस की फूली सांसें, आरोपी को दबोचा

RSS प्रचारक को दी पाकिस्तान के नाम से जान से मारने की धमकी, पुलिस की फूली सांसें, आरोपी को दबोचा

बारां पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.

बारां पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.

RSS pracharak receives death threats: आरएसएस के बारां जिले के प्रचारक रामेश्वर कुमार को एक व्यक्ति ने संघ छोड़ने और हिन ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

RSS प्रचारक रामेश्वर कुमार को दी गई थी धमकी
धमकी देने वाले ने खुद को पाकिस्तान का बताया था
कन्हैयालाल केस से डरी पुलिस आई तत्काल अलर्ट मोड पर

बारां. कोटा संभाग के बारां जिले में आरएसएस (RSS) के जिला प्रचारक को संघ छोड़ने और मुस्लिम धर्म अपनाने की धमकी देने के मामले का पुलिस ने बुधवार को खुलासा कर दिया है. पुलिस ने इस मामले में मुख्य आरोपी समेत एक बाल अपचारी को निरुद्ध किया है. आरएसएस प्रचारक को यह धमकी दिवाली से एक दिन पहले दी गई थी. आरोपी ने खुद को पाकिस्तान (Pakistan) का बताया था. इस धमकी भरे कॉल ने बारां पुलिस की सांसें फूला दी. बारां पुलिस का बेड़ा दिवाली को भूलकर आरोपी की तलाश में जुटा रहा. धमकी देने वाला आरोपी जिला प्रचारक के गांव का ही निकला. उसने पूर्व में हुई कहासुनी का बदला लेने और प्रचारक को डराने के लिए फोन किया था.

पुलिस के अनुसार झालावाड़ जिले के पिड़ावा तहसील के मायाखेड़ी गांव निवासी रामेश्वर कुमार को 23 अक्टूबर को अज्ञात विदेशी नंबरों से कॉल आया था. कॉल करने वाले ने खुद को पाकिस्तान का निवासी बताया. उसने रामेश्वर को आरएसएस छोड़ने और हिंदू धर्म छोड़कर मुस्लिम धर्म अपनाने को कहा. ऐसा नहीं करने पर फोन करने वाले ने उनको जान से मारने की धमकी दी. आरएसएस प्रचारक रामेश्वर कुमार ने इसे मजाक में लिया.

एसपी ने आननफानन में आरोपी की तलाश के लिए लगाई टीमें
कुछ देर बाद फिर दूसरे नंबर से कॉल कर आरोपी ने उनको उनकी लोकेशन बता दी. इसके बाद बीते कुछ दिनों से छीपा बड़ौद में प्रवास कर रहे रामेश्वर कुमार ने स्थानीय पुलिस थाने में इसकी शिकायत दी. पिछले दिनों उदयपुर में हुई टेलर कन्हैयालाल की हत्या जैसी घटनाओं से सबक लेते हुए बारां पुलिस तत्काल अलर्ट मोड पर आ गई. पुलिस अधीक्षक कल्याणमल मीना ने आनन-फानन में फोन करने वाले का पता लगाने के लिए साइबर एक्सपर्ट की टीमों को लगा दिया.

जिला प्रचारक के गांव का ही रहने वाला है आरोपी
कोटा और बारां के साइबर एक्सपर्ट्स ने मिलकर मामले का खुलासा करते हुए आरोपी का पता लगा लिया. आरोपी गिर्राज दांगी (19) रामेश्वर कुमार के गांव का ही रहने वाला है. उसके बाद पुलिस ने गांव में पहुंचकर वहां से गिर्राज दांगी को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने इस मामले में उसके साथ एक बाल अपचारी को भी निरुद्ध किया है. पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि आरोपी और फरियादी एक ही गांव के रहने वाले हैं. बताया जा रहा है कि पूर्व में दोनों के बीच कुछ कहासुनी हुई थी. उसी के चक्कर में आरोपी ने रामेश्वर कुमार को दिवाली के मौके पर डराने के लिए अज्ञात मोबाइल नंबरों से कॉल कर दिया था कि ताकि वह डर जाए और आरएसएस को छोड़ दे.

Tags: Baran news, Crime News, Pakistan, Rajasthan news, RSS

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें