बारां में इलाज के दौरान महिला की मौत, गुस्साए पिता ने डॉक्टर को मारा थप्पड़

बारां. जिला अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत (Death of woman) से गुस्साए परिजनों ने गुरुवार तड़के ड्यूटी डॉक्टर को थप्पड़ (Slap) जड़ दिया. इसकी सूचना पर गुस्साए डॉक्टर्स (Doctors) सुबह अपना काम छोड़कर अस्पताल से बाहर आ गए. डॉक्टर्स की मांग (Demand) थी उन्हें अस्पताल में तुरंत सुरक्षा मुहैया (protection) कराई जाए.

Vipin Tiwari | News18 Rajasthan
Updated: September 5, 2019, 7:25 PM IST
बारां में इलाज के दौरान महिला की मौत, गुस्साए पिता ने डॉक्टर को मारा थप्पड़
डॉक्टर से मारपीट की सूचना पर सुबह अन्य सभी डॉक्टर अपना काम छोड़ अस्पताल की पुलिस चौकी पर एकत्र हो गए. उनकी मांग थी कि उन्हें तत्काल सुरक्षा मुहैया कराई जाएं.फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
Vipin Tiwari | News18 Rajasthan
Updated: September 5, 2019, 7:25 PM IST
बारां. जिला अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत (Death of woman) से गुस्साए परिजनों ने गुरुवार तड़के ड्यूटी डॉक्टर को थप्पड़ (Slap) जड़ दिया. इसकी सूचना पर गुस्साए डॉक्टर्स (Doctors) सुबह अपना काम छोड़कर अस्पताल से बाहर आ गए. डॉक्टर्स की मांग (Demand) थी उन्हें अस्पताल में तुरंत सुरक्षा मुहैया (protection) कराई जाए. नहीं तो वो काम का बहिष्कार (Boycott) कर देंगे.

पुलिस ने थप्पड़ मारने के आरोपी को लिया हिरासत में
जानकारी के अनुसार बारां जिला अस्पताल के फीमेल वार्ड में 30 वर्षीय महिला भर्ती थी. उसकी हालत गंभीर बताई जा रही थी. बुधवार देर रात करीब 2 बजे उसकी तबीयत ज्यादा खराब हो गई. बाद उसकी अस्पताल में ही इलाज के दौरान मौत हो गई. महिला की मौत से गुस्साए उसके पिता ने इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर हरिओम मीणा के थप्पड़ जड़ दिया. घटना के बाद डॉक्टर की सूचना पर पुलिस ने थप्पड़ मारने वाले मृतका के पिता को हिरासत में ले लिया.

पुलिस चौकी पर एकत्र हुए डॉक्टर्स

डॉक्टर से मारपीट की सूचना पर सुबह अन्य सभी डॉक्टर अपना काम छोड़ अस्पताल की पुलिस चौकी पर एकत्र हो गए. उनकी मांग थी कि उन्हें तत्काल सुरक्षा मुहैया कराई जाएं. इस दौरान करीब 2 घंटे तक अस्पताल में कामकाज प्रभावित रहा. मारपीट के शिकार हुए डॉक्टर हरिओम ने कहा कि ऐसे माहौल में काम नहीं हो सकता. इसलिए वो 15 दिन में अस्पताल छोड़ देंगे. वहीं अन्य डॉक्टर्स का कहना था कि अगर प्रशासन ने उचित सुरक्षा नहीं मुहैया करवाई तो वो अस्पताल में काम ठप कर देंगे.

6 घंटे से ज्यादा समय तक अस्पताल में पड़ा रहा महिला का शव
दूसरी तरफ पिता के जेल जाने के बाद महिला का शव अस्पताल में 6 घंटे से ज्यादा समय तक पड़ा रहा. परिजनों ने शव उठाने से इनकार कर दिया. पुलिस अधिकारियों की समझाइस के बाद परिजनों ने महिला का शव लिया.
Loading...

बारां में पुलिस थाने में युवक ने खाया जहर, अस्पताल में हुई मौत

बारां में मौसमी बीमारियों का कहर, 2 बच्चों की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बारां से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 7:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...