Home /News /rajasthan /

50 couples got married together on india pakistan border in barmer grooms came from 40 villages to pick up brides rjsr

अच्छी पहलः भारत-पाक बॉर्डर पर एक साथ 50 जोड़ों की शादी, दुल्हनों को लेने 40 गांवों से आए दूल्हे

विवाह सम्मेलन में शादी करने आया प्रत्येक जोड़ा खुश दिया.

विवाह सम्मेलन में शादी करने आया प्रत्येक जोड़ा खुश दिया.

Samuhik vivah Rajasthan: राजस्थान में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर स्थित बाड़मेर जिले में मुस्लिम समुदाय के हुये पहले सामूहिक विवाह सम्मलेन में 50 जोड़ों ने एक साथ निकाह पढ़ा. छोटे से गांव हरपालिया में हुये इस विवाह समारोह में दुल्हनों को लेने के लिये 40 गावों के दूल्हे आये. समारोह में बड़ी संख्या में समाज के लोग और जनप्रतिनिधि शामिल हुये.

अधिक पढ़ें ...

रिपोर्ट – प्रेमदान

बाड़मेर. खर्चीली शादियों के दौर में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सरहद पर स्थित बाड़मेर जिले में रविवार को हुआ मुस्लिम समाज का पहला सामूहिक विवाह सम्मेलन इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है. बाड़मेर जिले के छोटे से गांव हरपालिया में 50 जोड़ों ने एक साथ निकाह कबूल किया और साथ जीने-मरने का वादा किया. मुस्लिम समाज के इस पहले सामूहिक विवाह सम्मेलन में जबर्दस्त जनसैलाब उमड़ा. सम्मेलन में नवविवाहित जोड़ों को शुभकामनायें देने के लिये बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि भी पहुंचे.

शादियों में होने वाली फिजलूखर्ची को रोकने के लिये सरहदी बाड़मेर में मुस्लिम समुदाय के पहले सामूहिक विवाह सम्मेलन में 50 जोड़ों ने एक साथ निकाह कबूल किया. छोटे से गांव हरपालिया में बीते महीनेभर से इस सामूहिक विवाह सम्मेलन की तैयारियां चल रही थी. रविवार को यह विवाह सम्मेलन अपने अंजाम तक पहुंच गया. आयोजन में काजी सैयद नूरू उल्ला शाह बुखारी ने 50 जोड़ों का निकाह कराया. इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में आसपास के 40 गांवों से दूल्हे बारात लेकर पहुंचे. दूल्हनें भी अपने परिवार के साथ यहां पहुंची.

विवाह सम्मेलन में शादी करने आया प्रत्येक जोड़ा खुश

हरपालिया के रहने वाले जान मोहम्मद बाड़मेर के पीजी कॉलेज में प्रथम वर्ष में पढ़ते हैं. रविवार को जान मोहम्मद का निकाह शकीना बानो के साथ हुआ. दूल्हे जान मोहम्मद के मुताबिक मुस्लिम समाज में यहां यह पहला सामूहिक विवाह समारोह हुआ है. बकौल जान मोहम्मद उसे इस बात की खुशी है कि उसका निकाह इस सम्मेलन में हुआ. जान मोहम्मद की तरह ही इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में शादी करने आया प्रत्येक जोड़ा खुश दिया.

ग्रामीणों ने मिलकर किया आयोजन

गांव में मुस्लिम समुदाय के इस सामूहिक विवाह सम्मेलन के आयोजन का मानस यहां के जनप्रतिनिधि सच्चू खान ने बनाया. सच्चू खान के मुताबिक शादियों में आजकल लोग बेहद दिखावा करते हैं. उनमें अनाप-शनाप खर्चा होता है. इसके चलते मध्यम और गरीब वर्ग के लोगों को कर्ज लेकर मजबूरन दिखावा करना पड़ता है. ऐसे में उन्होंने गांव के लोगों के सामने सादगी के साथ कुछ अलग करने की बात रखी. ग्रामीणों ने भी उनकी बात का मान रखा और सामूहिक विवाह सम्मेलन को अमली जामा पहनाकर दिखा दिया.

जिला प्रमुख समेत कई जनप्रतिनिधि पहुंचे

सामूहिक विवाह सम्मेलन के इस आयोजन में आसपास के गांवों के सैकड़ों लोग पहुंचे. उनके साथ ही बाड़मेर जिला प्रमुख महेंद्र चौधरी, चौहटन विधायक पदमाराम मेघवाल, पूर्व मंत्री गफूर अहमद और कांग्रेस जिलाध्यक्ष फतेह खान भी पहुंचे. यहां पहुंचे लोगों ने दिल खोलकर इस आयोजन की तारीफ की. बाड़मेर में आयोजित हुआ मुस्लिम समुदाय का यह पहला सामूहिक विवाह सम्मेलन खर्चीली शादियों को रोकने के अपने नेक मकसद के चलते चर्चा का विषय बना हुआ है.

Tags: Barmer news, Marriage news, Rajasthan latest news, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर