होम /न्यूज /राजस्थान /Barmer : पाकिस्तान से 7 लोग जैसे-तैसे पहुंचे, बोले - आखिर क्यों शुरू नहीं की जा रही थार एक्सप्रेस?

Barmer : पाकिस्तान से 7 लोग जैसे-तैसे पहुंचे, बोले - आखिर क्यों शुरू नहीं की जा रही थार एक्सप्रेस?

जम्मू कश्मीर को तोड़कर दो राज्य बनाए गए थे, तब तीन साल पहले भारत और पाकिस्तान के बीच जो भी आवाजाही थी, उसे बंद कर दिया ग ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट – मनमोहन सेजू

बाड़मेर. सिंध और हिन्द के बीच बरसों से रोटी और बेटी का नाता रहा है. सरहद पर कंटीली तार खिंच जाने के बावजूद यह राफ्ता कायम रहा. दोनों जमीन को आपस मे जोड़ने वाली थार एक्सप्रेस ने अपनों को और करीब ला दिया था, लेकिन तीन साल से बंद होने की वजह से दोनों मुल्कों के हजारों लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. पंजाब के अटारी बॉर्डर से सरहदी बाड़मेर आए पाकिस्तानी नागरिक पुरजोर तरीके से इस बात की पैरवी करते नज़र आ रहे हैं कि थार एक्सप्रेस फिर से शुरू होनी चाहिए.

भारत और पाकिस्तान के बीच राजस्थान के जोधपुर से रवाना होकर बरसों तक पाकिस्तान के सिंध तक का सफर हजारों लोग थार एक्सप्रेस के ज़रिये किया करते थे. प्रेम की पटरी पर चलने वाले अमन के इस कारवां को फिर बहाल करने की आवाज मुखर होने लगी है. हाल में पाकिस्तान से आए सात लोगों के जत्थे में पाकिस्तान के अमरकोट के रहने वाले प्रह्लाद राम, थारपारकर के रहने वाले डॉक्टर अशोक और उन्हीं के ज़िले के हेमन्त चंदानी तीन दिन का सफर तय कर बाड़मेर पहुंचे हैं.

अपने रिश्तेदार के यहां शोक सभा मे शरीक होने आए ये लोग बताते हैं कि जब तक थार एक्सप्रेस चलती थी, तो आना-जाना आसान था, लेकिन अब बेहद दुश्वार है. ना केवल वीजा मिलने में दिक्कतें हैं बल्कि सफ़र बेहद लम्बा और खर्चीला हो चुका है.

सिंध-हिंद की लाइफलाइन रही थार एक्सप्रेस

पहले भारत-पाकिस्तान के बीच रेल का संचालन जोधपुर से कराची तक था. 1965 के युद्ध में रेल पटरियां क्षतिग्रस्त हो गई और थार एक्सप्रेस को बंद कर दिया गया. इसके बाद 18 फरवरी 2006 को 41 साल बाद यह सेवा फिर शुरू हुई. 11 अगस्त 2019 के बाद से एक बार फिर थार एक्सप्रेस का संचालन बंद कर दिया गया. थार एक्सप्रेस में अब तक 4 लाख से अधिक यात्री दोनों ओर से यात्रा कर चुके हैं.

9 अगस्त 2019 को आखिरी बार थार एक्सप्रेस पाकिस्तान के लिए रवाना हुई थी और 11 अगस्त को वापस हिंदुस्तान आई थी. 5 अगस्त 2019 को जम्मू कश्मीर में धारा 370 हटाए जाने के बाद हो रहे विरोध प्रदर्शन के बाद भारत ने पाकिस्तान से तमाम तरह के संपर्क खत्म किए थे इसलिए थार एक्सप्रेस के पहिए थम गए थे.तीन साल से सिंध और हिन्द के लोगों को अपनों से मिलने के लिए भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

Tags: Barmer news, India pak border

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें