होम /न्यूज /राजस्थान /मौसमी बीमारियों का कहर: जिला अस्पताल में OPD 3500 पार, दवा काउंटर की कम संख्‍या बनी मुसीबत

मौसमी बीमारियों का कहर: जिला अस्पताल में OPD 3500 पार, दवा काउंटर की कम संख्‍या बनी मुसीबत

Barmer district hospital: राजस्‍थान के बाड़मेर जिला अस्पताल में उल्टी, दस्त और मलेरिया के मरीजों की वजह से इन दिनों ओपीड ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट-मनमोहन सेजू
    बाड़मेर. भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर बसे सरहदी बाड़मेर जिले के सबसे बड़े अस्पताल में मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. मौसमी बीमारियों के मद्देनजर अस्पताल में उल्टी, दस्त और मलेरिया के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है. मरीजों की बढ़ती संख्या के चलते अस्पताल के पर्ची काउंटर और दवा काउंटर पर लंबी-लंबी कतारें लग रही हैं. मरीज और उनके साथ आने वाले परिजनों ने बताया कि दवा व पर्ची काउंटर पर भीड़ के चलते बहुत देर तक लाइन में खड़ा रहना पड़ रहा है. मरीजों ने दोनों तरह के काउंटर बढ़ाने की मांग की है.

    बाड़मेर जिला अस्पताल में इन दिनों मरीजों की लम्बी-लम्बी कतारों की वजह यहां मिलने वाली निःशुल्क दवा योजना है. हालांकि इसके लिए मरीजों को कतार में काफी देर ते खड़े रहना पड़ता है. जिला अस्पताल में शुरुआत में 7 दवा काउंटर खोले गए थे, लेकिन अब इनकी संख्‍या छह रह गई है. ऐसे में पहले जब जिला अस्पताल की ओपीडी 1000 थी, तो 7 काउंटरों पर दवाइयां मिल जाती थीं, लेकिन हाल ही में जिला अस्पताल की ओपीडी 3500 के पार रह रही है. मरीजों का कहना है कि तेज धूप में भी घंटों खड़े रहते हैं, तब जाकर नम्बर आता है.

    पर्ची काउंटर का भी है बुरा हाल

    ऐसा नहीं है कि महज दवा काउंटर पर ही कतारों में खड़ा रहना पड़ रहा है बल्कि पर्ची काउंटर पर भी लम्बी कतारें लग रहती हैं. बाड़मेर शहर के शास्त्री नगर निवासी पवन कुमार का कहना है कि वह पिछले तीन घंटे से दवाइयां लेने के लिए कतार में खड़े रहे, लेकिन भीड़ ज्यादा होने की वजह से नम्बर नहीं आया. अस्पताल आने वाले मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में दवा काउंटर बढ़ाने की आवश्यकता है.

    बाड़मेर जिला मुख्यालय से करीब 60 किलोमीटर दूर रेडाणा गांव से आए सगताराम का कहना है कि सुबह से ही पर्ची एव दवाइयां लेने के लिए कतारों में लगना पड़ता है. यहां भीड़ ज्यादा होने से समय पर नम्बर भी नहीं आ पाता है. ऐसे में दवा काउंटर की संख्या बढ़ानी चाहिए.वहीं बाड़मेर शहर के तिलक नगर निवासी मोहम्मद सलीम का कहना है कि जिला अस्पताल में 6 दवा काउंटर ही खुले हुए हैं. हजारों मरीज आ रहे हैं, तो चार-पांच दवा काउंटर और खोलने की आवश्यकता है.

    जिला अस्पताल अधीक्षक ने कही ये बात

    जिला अस्पताल की ओपीडी बढ़ने के साथ ही आईपीडी भी बढ़ रही है. जिला अस्पताल अधीक्षक डॉ. बीएल मंसुरिया के मुताबिक, इन दिनों जिला अस्पताल की ओपीडी करीब 3500 के आसपास रह रही हैं. मलेरिया के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ है. ओपीडी बढ़ने के साथ साथ आईपीडी में भी बढ़ोतरी हुई है. इसको देखते हुए एक-दो दिन में 2 दवा काउंटर शुरू कर दिए जाएंगे. साथ ही 5 नए काउंटर बनाने के लिए बजट पीडब्ल्यूडी को भेज दिया है.

    district hospital barmer

    Tags: Barmer news, Government Hospital

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें