अपना शहर चुनें

States

Barmer News: बाड़मेर की छात्राओं ने पूरा किया पीएम मोदी का सपना, NCC कोर्स में सेलेक्ट हुईं 45 छात्राएं

पाकिस्तान की सीमा से सटे राजस्थान के बाड़मेर जिले की एमबीसी गर्ल्स कॉलेज की छात्राएं इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए मेहनत करती नजर आ रही हैं.
पाकिस्तान की सीमा से सटे राजस्थान के बाड़मेर जिले की एमबीसी गर्ल्स कॉलेज की छात्राएं इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए मेहनत करती नजर आ रही हैं.

बाड़मेर देश के उन सरहदी जिलों में है जहां पीएम मोदी का सपना साकार हो रहा है और इसके जरिए इतिहास का हिस्सा बनने का गौरव हासिल करने वाली छात्राएं बेहद उत्साहित है. इन छात्राओं जल्द ही खाकी पहनने का मौका मिलेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 7:20 PM IST
  • Share this:
बाड़मेर. पाकिस्तान की सीमा से सटे राजस्थान के बाड़मेर जिले की एमबीसी गर्ल्स कॉलेज की छात्राएं इन दिनों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए मेहनत करती नजर आ रही हैं. इन छात्राओं का जुनून और मेहनत इन्हें उस टीम का हिस्सा बनाएंगे, जिनको अपनी कॉलेज की पढ़ाई के दौरान ही खाकी पहनने का गौरव मिलेगा. यहां के एमबीसी गर्ल्स कॉलेज प्रधानमंत्री के सपने को पूरा करने जा रही है. इस सपने का हिस्सा बनने जा रही कॉलेज की छात्राएं एनसीसी (National Cadet Corps-NCC) का हिस्सा बनकर बहुत उत्साहित है.

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साल 2020 के अपने स्वतंत्रता दिवस के उद्बोधन में कहा था कि सीमावर्ती और तटीय क्षेत्रों में 173 जिलों में भारतीय सेना NCC कैडेट्स को ट्रेनिंग देगी, तटीय क्षेत्रों में नौसेना प्रशिक्षण देगी और जहां भी वायुसेना के अड्डे हैं, वहां पर वायुसेना इन कैडेटों को ट्रेनिंग देगी. इस प्रकार सीमावर्ती और तटीय क्षेत्रों में आपदा से निपटने के लिए प्रशिक्षित नौजवान उपलब्ध होंगे. इसके अलावा सशस्त्र सेनाओं में कैरियर बनाने के लिए युवाओं में आवश्यक कौशल का विकास होगा.

बाड़मेर की एमबीसी राजकीय स्नातकोत्तर कन्या महाविद्यालय में एनसीसी की भर्ती प्रक्रिया इन दिनों चल रही है. एनसीसी कमान अधिकारी कर्नल मनोज गुप्ता की अगुवाई में सैकड़ो छात्राओं ने लिखित परीक्षा, शारीरिक परीक्षा एवं शारीरिक जांच एवं स्वास्थ्य जांच के पड़ाव पार किया है. एनसीसी प्रभारी प्रोफेसर सरिता लीलड़ बताती है कि सरहदी बाड़मेर में इस एनसीसी भर्ती प्रक्रिया में सैकड़ो छात्राओं ने भाग लिया. इसमें से 45 छात्राओं का चयन लिखित परीक्षा, शारीरिक परीक्षा एवं शारीरिक जांच एवं स्वास्थ्य जांच के बाद वरीयता के आधार पर किया गया. यह वह छात्राएं है जिन्हें अपने कॉलेजी जिंदगी में ही खाकी पहनने का गौरव मिले.



क्या है पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस सपने की जो उन्होंने 15 अगस्त 2020 को लाल किले की प्राचीर से देखा था. प्रधानमंत्री ने सीमावर्ती और तटीय क्षेत्रों के युवाओं के विकास को ध्यान में रखते हुए एक लाख नए एनसीसी कैडेटों को प्रशिक्षण देने और उनमें एक तिहाई लड़कियां को प्राथमिकता देने की बात कही थी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस सपने को बाड़मेर के गर्ल्स कॉलेज की छात्राएं पूरा करने जा रही हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज