अपना शहर चुनें

States

बाड़मेर: महिलाओं की नसबंदी ऑपरेशन से जुड़ी लाइव तस्वीरें हुई वायरल, हड़कंप मचा

मामला जब उच्च अधिकारियों तक पहुंचा तो उनके होश उड़ गए. अधिकारियों ने आनन-फानन में उन तस्वीरों को ग्रुप से हटाने के लिए निर्देश दिए, लेकिन तब तक तस्वीरें वायरल हो चुकी थी.
मामला जब उच्च अधिकारियों तक पहुंचा तो उनके होश उड़ गए. अधिकारियों ने आनन-फानन में उन तस्वीरों को ग्रुप से हटाने के लिए निर्देश दिए, लेकिन तब तक तस्वीरें वायरल हो चुकी थी.

बाड़मेर (Barmer) जिले में एक बार फिर से इंसानियत को शर्मसार (Shameful) करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं. यहां नसबंदी कैम्प के दौरान किए जा रहे महिलाओं की नसबंदी के ऑपरेशन (Sterilization operation of women) के लाइव फोटो सोशल मीडिया पर वायरल (Viral on social media) कर दिए गए.

  • Share this:
बाड़मेर. जिले में एक बार फिर से इंसानियत को शर्मसार (Shameful) करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं. यहां नसबंदी कैम्प के दौरान महिलाओं की नसबंदी के किए जा रहे ऑपरेशन (Sterilization operation of women) के लाइव फोटो सोशल मीडिया पर वायरल (Viral on social media) कर दिए गए. घटना की जानकारी मिलने के बाद चिकित्सा महकमे में हड़कंप मच गया. जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने स्वीकार किया है कि यह विभाग की बड़ी गलती (Big mistake) है. इस पूरे मामले में जिला कलक्टर (District Collector) और चिकित्सा विभाग ने दो अलग-अलग जांच के आदेश दिए हैं.

गुड़ामालानी में लगा था नसबंदी का कैम्प
जानकारी के अनुसार जिले के गुड़ामालानी मुख्यालय पर हाल ही में नसबंदी ऑपरेशन कैम्प का आयोजन किया गया था. इसमें डॉक्टर महिलाओं की नसबंदी कर रहे थे. इसी दौरान ऑपरेशन थिएटर में किसी कर्मचारी ने आपॅरेशन की तस्वीरें खींच ली. उसके बाद एक-दो नहीं बल्कि पांच से ज्यादा तस्वीरें सोशल मीडिया के ग्रुप में वायरल कर महिलाओं की निजता को तार-तार कर दिया गया.

मामला जब उच्च अधिकारियों तक पहुंचा तो उनके होश होश उड़ गए अधिकारियों ने आनन-फानन में उन तस्वीरों को ग्रुप से हटाने के लिए निर्देश दिए, लेकिन तब तक तस्वीरें वायरल हो चुकी थी. मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कमलेश चौधरी ने माना कि यह चिकित्सा विभाग की भारी गलती है. इस पूरे मामले में जिला कलक्टर और हमने दो अलग-अलग जांच के आदेश दिए हैं. रिपोर्ट आने पर आगे की कार्रवाई रिपोर्ट पर की जाएगी.
सीएमएचओ ने कहा यह दुर्भाग्यपूर्ण है


चौधरी ने कहा कि सोशल मीडिया पर तस्वीरें वायरल हुई है वह अपने आप में दुर्भाग्यपूर्ण है. बहरहाल प्रशासन इस पूरे मामले की जांच में जुटा है. पूर्व में भी प्रदेश में चिकित्सा विभाग से निजता का उल्लघंन करने वाला वीडियो वायरल हो चुका है.

पूर्व में श्रीगंगानगर में वायरल हो चुका है वीडियो
उल्लेखनीय है कि श्रीगंगानगर के रायसिंहनगर के सरकारी अस्पताल में भी इसी वर्ष जुलाई माह में चिकित्सकों की आपसी गुटबाजी के बाद लेबर रूम का एक वीडियो वायरल हो गया था. उसके बाद चिकित्सा महकमे में हड़कंप मच गया था.

पंचायत चुनाव: हट सकता है 2 से अधिक संतान होने पर चुनाव नहीं लड़ पाने का नियम

राहतभरी खबर: प्रदेश में राशन की दुकानें अब महीने में 30 दिन खुलेंगी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज