लाइव टीवी

8 मार्च को पाकिस्तान जानी थी बारात, भारत-पाक तनाव के चलते रुक गई शादी

Bhawani Singh | News18India
Updated: March 4, 2019, 9:58 PM IST
8 मार्च को पाकिस्तान जानी थी बारात, भारत-पाक तनाव के चलते रुक गई शादी
प्रतिकात्मक तस्वीर.

8 मार्च को राजस्थान के बाड़मेर जिले से एक बारात को पाकिस्तान जाने के लिए जाने वाली थी लेकिन दोनों देशों के बीच तनाव वाले हालातों को देखते हुए यह शादी स्थगित कर दी गई है.

  • Share this:
पिछले महीने की 14 फरवरी से भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव जारी है जिसके चलते भारत और पाकिस्तान में रहने वाले लोगों को कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. आलम यह है कि इसी महीने 8 मार्च को राजस्थान के बाड़मेर जिले से एक बारात पाकिस्तान जाने वाली थी लेकिन वर्तमान हालातों को देखते हुए यह शादी स्थगित करनी पड़ी है. महेंद्र सिंह ने अपनी शादी के लिए पिछले 1 महीने से पूरी तैयारी कर ली थी, दुल्हन के लिए कपड़े भी खरीद लिए थे लेकिन अब हालातों को देखते हुए बारात पाकिस्तान नहीं जा पाएगी. जिसके चलते पिछले कई दिनों से घर में खुशियां का माहौल अब मायूसी में तब्दील हो गया है.

ये भी पढ़ें- भारतीय सीमा पर पाकिस्तान के मानव रहित विमान को वायु सेना ने मार गिराया

भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर तारबंदी भले ही हो गई हो लेकिन आज भी दोनों मुल्कों के लोगों में आपसी रिश्तेदारी कायम है. आलम यह है कि पाकिस्तान सेआज भी कहीं हिंदू परिवार अपनी बेटियों को बयां करने के लिए भारत आते हैं और अपनी बेटियों की शादी करते कुछ दिन रुक कर फिर अपने मुल्क पाकिस्तान चले जाते हैं. लेकिन इस बार राजस्थान के बाड़मेर गिराब इलाके के महेंद्र सिंह राठौड़ की बारात पाकिस्तान के अमरकोट जाने वाली थी लेकिन एंड वक्त दूल्हे में भारत पाकिस्तान के तनाव के बीच की स्थिति को देखते हुए शादी को स्थगित कर दिया गया.

ये भी पढ़ें- लोकसभा चुनाव: इन 5 सीटों पर टिकी हैं सबकी निगाहें, दो पर राजघरानों की साख पर दांव!

गौरतलब है कि महेंद्र सिंह का रिश्ता पाकिस्तान के अमरकोट प्रांत के गांव में सिंह सोढ़ा की बेटी से हुआ था 8 मार्च को शादी की तारीख तय होने के बाद पिछले शुक्रवार को थार एक्सप्रेस से बारात लेकर पाकिस्तान को रवाना होना था दुल्हे महेंद्र सिंह के अनुसार उसने अपनी शादी की पूरी तैयारी कर दी थी और उसी से बात की बहुत खुशी थी कि उसकी शादी 8 मार्च को होने वाली है लेकिन अचानक ही बदले हालातों ने उसकी शादी को स्थगित कर दिया जिसके चलते वह थोड़ा मायूस है लेकिन वह चाहता है कि दोनों मुल्कों के बीच फिर से शांति और अमन जल्दी से कायम हो.

ये भी पढ़ें- अभिनंदन 2 दिन में लौट आए पाकिस्तान से भारत, जयपुर के गजानंद को लगे थे 36 साल

अपनी शादी की पूरी तैयारी कर ली थी. इस बात की बहुत खुशी थी कि मेरी शादी 8 मार्च को होने वाली है लेकिन अचानक ही बदले हालातों के चलते शादी को स्थगित करना पड़ा. मैं चाहता हूं कि दोनों मुल्कों के बीच फिर से शांति और अमन जल्दी से कायम हो.
महेंद्र सिंह दूल्हा निवासी बाड़मेर
ये भी पढ़ें- SURGICAL STRIKE 2.0: राजस्थान में फौजी के घर पैदा हुआ 'मिराज सिंह'

महेंद्र सिंह को अपनी बारात के लिए वीजा लाने में काफी दिक्कत हुई थी पूर्ण सिंह बताते हैं कि 7 दिन रुकने के बाद केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह के कहने परउनको 5 लोगों का बारात ले जाने का वीजा पाकिस्तान का मिला था. लेकिन अब हालातों के चलते हमने शादी को स्थगित कर दिया है
आज भी हमारे यहां पर पाकिस्तान में रहने वाले हजारों हिंदू परिवार अपनी बेटी की शादी करने के लिए भारत आते हैं और शादी कर कुछ दिन रुकने के बाद वापस चले जाते हैं दोनों देशों के लोगों में आपसी भाईचारा बदस्तूर जारी है और हम चाहते हैं कि जल्द से जल्द दोनों मुल्कों में शांति कायम हो.
पुरसिंह, निवासी बाड़मेर


ये भी पढ़ें- शहीदों को श्रद्धाजंलि: '...जो शहीद हुए हैं उनकी, जरा याद करो कुर्बानी...' सुनकर आंखें हुईं नम

बाड़मेर जिले का रिश्ता पाकिस्तान से रिश्तों का ताना-बाना कई साल पुराना है. भारत-पाक विभाजन से पहले रोटी और बेटी का रिश्ता चला आ रहा है.दोनों मुल्कों के बीच युद्ध वह सीमा विवाद के बावजूद भी रिश्तों की डोर कमजोर नहीं हुई है. पाक से हिंदू परिवार लगातार अपनी बेटियों की शादी करने के लिए बाड़मेर आते रहते हैं.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बाड़मेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 4, 2019, 7:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर