अपना शहर चुनें

States

बाड़मेर : ओपन वेल की मरम्मत के वक्त ढह गई मिट्टी, चार मजदूर दबे, दो को बचाया जा सका

ओपन वेल के धंसने से उसमें दो मजदूर फंस गए हैं जिन्हें बचाने के लिए अंधेरा घिरने के बावजूद रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है.
ओपन वेल के धंसने से उसमें दो मजदूर फंस गए हैं जिन्हें बचाने के लिए अंधेरा घिरने के बावजूद रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है.

ओपन वेल के धंसने से 4 श्रमिक दब गए थे. इनमें से 2 श्रमिकों को ग्रामीणों ने हाथों हाथ बाहर निकाल लिया है, जबकि 2 श्रमिकों को अभी तक निकाला नहीं जा सका है. बचाव कार्य जारी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2021, 9:21 PM IST
  • Share this:
बाड़मेर. बाड़मेर (Barmer) जिले में सीमावर्ती गडरारोड तहसील क्षेत्र में गुरुवार को एक ओपन वेल (open well) ढह गया. इस हादसे में 4 श्रमिक दब गए थे. इनमें से 2 श्रमिकों को ग्रामीणों ने हाथों हाथ बाहर निकाल लिया है, जबकि 2 श्रमिकों को अभी तक निकाला नहीं जा सका है. इस हादसे की जानकारी मिलते ही प्रशासनिक अमला मौके पर पहुंच गया और राहत कार्य शुरू करवाया गया है. लेकिन अभी तक दोनों श्रमिक मलबे में ही फंसे हैं.

मरम्मत के दौरान ओपन वेल की मिट्टी ढही

जानकारी के मुताबिक, गडरारोड तहसील क्षेत्र के रोहिडाला गांव में आज 4 श्रमिक एक ओपन वेल में अंदर जाकर इसकी मरम्मत कर रहे थे. मरम्मत करने के दौरान यकायक मिट्टी ढह गई. इससे सभी श्रमिक अंदर ही दब गए. इस दौरान बाहर खड़े लोगों ने चिल्लाकर पड़ोस के लोगों को बुलाया. सभी ने सामूहिक प्रयास कर मिट्टी हटाई और दो श्रमिकों को सकुशल बाहर निकाल लिया है. लेकिन मिट्टी अधिक होने के कारण दो श्रमिक बाहर नहीं निकाले जा सके. इस बीच जानकारी मिलने पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे. उन्होंने जेसीबी की मदद से राहत कार्य शुरू करवा दिया है. अभी तक दोनों श्रमिकों को बाहर नहीं निकाला जा सका है.



अंधेरा घिर गया, पर बचाव कार्य जारी है
पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा के मुताबिक, दोनों श्रमिकों को बाहर निकालने के लिए रेस्क्यू जारी है. अभी तक बेरी में केवाराम पुत्र भोजाराम मेघवाल और बालमराम पुत्र मनछाराम मेघवाल दबे हुए हैं. फिलहाल पुलिस व प्रशासन द्वारा रेस्क्यू (rescue) जारी है. दो जेसीबी, ट्रैक्टर व ग्रामीणों की मदद से बचाव कार्य लगातार जारी है. आपको बता दें कि बेरी करीब 30 फिट गहरी है और अंधेरा पड़ने के बावजूद प्रशासन ने बचाव कार्य जारी रखा है. हालांकि अभी तक कोई राहत वाली सूचना नही मिली है फिर भी दोनों श्रमिकों को निकालने के लिए प्रशासन जी जान से जुटा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज