Home /News /rajasthan /

होम गार्डों ने वसुंधरा राजे को खून से लिखा पत्र, स्‍थाई करने की उठाई मांग

होम गार्डों ने वसुंधरा राजे को खून से लिखा पत्र, स्‍थाई करने की उठाई मांग

राजस्थान राज्य सरकार की ओर से होम गार्डों से पूरा काम लेने के बावजूद भी स्थाई नहीं किया जाने से आक्रोशित बाड़मेर  जिले के सैकड़ों होमगार्डों ने इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई है.

राजस्थान राज्य सरकार की ओर से होम गार्डों से पूरा काम लेने के बावजूद भी स्थाई नहीं किया जाने से आक्रोशित बाड़मेर  जिले के सैकड़ों होमगार्डों ने इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई है.

राजस्थान राज्य सरकार की ओर से होम गार्डों से पूरा काम लेने के बावजूद भी स्थाई नहीं किया जाने से आक्रोशित बाड़मेर  जिले के सैकड़ों होमगार्डों ने इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई है.

    राजस्थान राज्य सरकार की ओर से होम गार्डों से पूरा काम लेने के बावजूद भी स्थाई नहीं किया जाने से आक्रोशित बाड़मेर  जिले के सैकड़ों होमगार्डों ने इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई है.

    बाड़मेर के सैकड़ो होम गार्डों ने अपने खून से पत्र लिख कर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्‍यमंत्री से स्थाई नौकरी देने अन्यथा मर जाने की इजाजत देने की गुहार लगाई है.

    गुरुवार  को महावीर पार्क में प्रदेशाध्यक्ष झलक सिंह राठौड़ के नेतृत्व में एकत्र हुए जिले भर के होमगार्ड जवानों का कहना है कि उनसे पुलिस सिपाही जैसा काम लिया जा रहा है मगर साल में मात्र 70 से 80 दिन ही नौकरी दी जा रही है. ऐसे में वह दशकों से स्‍थाई होने के इंतजार कर रहे हैं. लेकिन कोर्ट के आदेश के बाद भी सरकारे इस ओर ध्‍यान नहीं दे रही जिसके चलते पूरे राजस्थान में 'होमगार्ड स्थाई करों या मरने का अधिकार दो' के नारे को लेकर सरकार से पक्की नौकरी की गुहार कर रहे हैं.

    गौरतलब है इस बारे में हाईकोर्ट का आदेश भी आ चुका है मगर सरकार इस बारे में कोई निर्णय नहीं ले रही है. उन्होंने चेतावनी दी कि सरकार ने प्रदेश के  होमगार्डों को स्थायी नहीं किया तो वे आंदोलन करेंगे.उन्होंने कहा की कानून व्यवस्था को संभालनी आती तो बिगड़नी भी आती है होमगार्ड के जवानों ने प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में बताया कि जवान हड़ताल, उत्पात तथा तोड़फोड़ नहीं करना चाहते क्योंकि इससे देश का अहित ही होगा. इस कारण जवानों ने नियमित करने या इच्छा मृत्यु की अनुमति मांगी है.

    Tags: बाड़मेर

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर