बाड़मेर: कुख्यात तस्कर कमलेश उर्फ कमल को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया, देर रात चली गोलियां

तस्कर कमलेश ने लग्जरी कार से टक्कर मारकर हेड कांस्टेलब मेहाराम को कुचलने का प्रयास किया. मौका मुआयना करते पुलिस अधिकारी.

तस्कर कमलेश ने लग्जरी कार से टक्कर मारकर हेड कांस्टेलब मेहाराम को कुचलने का प्रयास किया. मौका मुआयना करते पुलिस अधिकारी.

Most wanted smuggler Kamlesh died in police encounter: बाड़मेर पुलिस ने कुख्यात तस्कर कमलेश उर्फ कमल का गुरुवार देर रात मुठभेड़ में मार गिराया है. उसके खिलाफ विभिन्न थानों में करीब एक दर्जन गंभीर आपराधिक मामले दर्ज थे.

  • Share this:
बाड़मेर. भारत-पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय सरहद पर स्थित बाड़मेर जिले (Barmer) में पुलिस ने कुख्यात तस्कर मोस्ट वांटेड कमलेश उर्फ कमल प्रजापत (Most Wanted Smuggler Kamlesh) को मुठभेड़ में मार गिराया है. पुलिस को उसके पास से करीब 60-70 लाख की नकदी, बड़ी मात्रा में अफीम, हथियार और सोने के गहने बरामद किये हैं. बताया जा रहा है कि पुलिस ने कमलेश उर्फ कमल की आधा दर्जन से अधिक लग्जरी गाड़ियों को भी जब्त किया गया है.

इससे पहले तस्कर कमलेश ने पुलिस के एक हैड कांस्टेबल पर गाड़ी चढ़ाकर उसे जान से मारने का प्रयास किया. इसमें हैड कांस्टेबल बुरी तरह से घायल हो गया. उसे गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. वहां उसका इलाज चल रहा है. वारदात के बाद जोधपुर पुलिस रेंज आईजी आधी रात को बाड़मेर पहुंच गये हैं.

बाड़मेर सदर थाना इलाके में हुई मुठभेड़

पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा के मुताबिक बाड़मेर जिले का कुख्यात अपराधी कमलेश उर्फ कमल प्रजापत पाली जिले का मोस्ट वांटेड अपराधी था. उसके खिलाफ बाड़मेर जिले के अलग अलग थानों में हत्या, लूट, डकैती, चोरी, एनडीपीएस और पुलिस पर फायरिंग सहित करीब एक दर्जन आपराधिक मामले दर्ज हैं. उस पर पाली जिले के सांडेराव थानाधिकारी पर हमला करने का भी आरोप था. गुरुवार रात को कमलेश के बाड़मेर सदर थाना इलाके में छिपे होने की सूचना मिली थी.
हेड कांस्टेबल को कुचलने का किया प्रयास

पाली पुलिस से मिले इनपुट के बाद बाड़मेर पुलिस ने इस कार्रवाई को अंजाम दिया. कार्रवाई के दौरान तस्कर कमलेश उर्फ कमल प्रजापत निवासी छीतर का पार मकान के पीछे का दरवाजा तोड़कर फरार होने लगा. इस दौरान दरवाजे पर तैनात हैड कांस्टेबल मेहाराम ने उसे रोकना चाहा. लेकिन तस्कर कमलेश ने लग्जरी कार से टक्कर मारकर मेहाराम को कुचलने का प्रयास किया.

जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने मारी गोली



जवाबी कार्रवाई में वहां तैनात जवानों ने फायरिंग कर उसे घायल कर दिया. बाद में कमलेश को जिला अस्पताल ले जाया गया. वहां उपचार के दौरान अस्पताल में उसकी मौत हो गई. पुलिस ने उसका शव अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया है. हालात को देखते वहां बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. देर रात अतिरिक्त जिला कलक्टर ओमप्रकाश विश्नोई भी जिला अस्पताल पहुंचे और घटना की जानकारी ली.

जोधपुर रेंज आईजी नवज्योति गोगाई बाड़मेर पहुंचे

आधी रात करीब 2 बजे जोधपुर रेंज आईजी नवज्योति गोगाई भी बाड़मेर पहुंचे गये. उन्होंने घटनास्थल का मुआयना कर पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा से पूरी जानकारी ली. तड़के 4 बजे तक पुलिस ने तस्कर कमलेश के घर की तलाशी ली. तलाशी के दौरान क्या क्या मिला है फिलहाल इस बारे में पुलिस ने कुछ भी बताने से इनकार कर दिया है. विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक पुलिस तलाशी के दौरान बड़ी संख्या में नगदी और मादक पदार्थ बरामद किये गये हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज