लाइव टीवी
Elec-widget

15 हजार की ऊंची चोटी पर हिमस्खलन से शहीद हुए बाड़मेर के पीराराम, 5 दिन बाद आज आएगा पार्थिव शरीर

News18 Rajasthan
Updated: November 25, 2019, 11:40 AM IST
15 हजार की ऊंची चोटी पर हिमस्खलन से शहीद हुए बाड़मेर के पीराराम, 5 दिन बाद आज आएगा पार्थिव शरीर
शहीद पीराराम का पार्थिव शरीर 5 दिन बाद आएगा बाड़मेर (फाइल फोटो)

बाड़मेर (Barmer) के बाछड़ाऊ गांव का लाल पीराराम (Shaheed Piraram) देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गया, जिसका पार्थिव देह (Dead body) आज पांच दिन बाद उनके गांव पहुंचेगा, जंहा शहीद का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार (Funeral) होगा.

  • Share this:
बाड़मेर. जम्मू कश्मीर के तंगधार बर्फीले इलाके में 15000 फीट की ऊंची चोटी पर तैनात बाड़मेर (Barmer) के बाछड़ाऊ गांव का लाल पीराराम (Shaheed Piraram) देश की रक्षा करते हुए शहीद हो गया, जिसका पार्थिव शरीर (Dead body) आज पांच दिन बाद उनके गांव पहुंचेगा, जंहा शहीद का राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार (Funeral) होगा, जिसमे बीजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया सहित कांग्रेस के जनप्रतिनिधि व जिला प्रशासन व पुलिस के आलाधिकारी मौजूद रहेंगे.

दोपहर बाद पार्थिव देह बाड़मेर के उत्तरलाई एयरबेस पहुंचेगी

पिछले कुछ दिनों से तंगधार सहित उत्तरी भारत में तेज बर्फबारी के चलते बर्फीले तूफान से यह हिमस्खलन हादसा हुआ, जिसकी चपेट में आने से सिर में गहरी चोट लग गई और पीराराम शहीद हो गए. पिछले 4 दिनों से लगातार जम्मू कश्मीर में हो रही बर्फबारी के चलते 4 दिन तक पार्थिव देह अभी तक बाड़मेर में नहीं पहुंच पाई. आज दोपहर बाद पार्थिव देह हेलीकॉप्टर से बाड़मेर के उत्तरलाई एयरबेस पहुंचेगी, जिसके बाद उनके गांव बांछड़ाऊ में राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

शहीद पीराराम की पत्नी वगतु देवी का अस्पताल में इलाज जारी
शहीद पीराराम की पत्नी वगतु देवी का अस्पताल में इलाज जारी


शहीद पीराराम के हैं दो बेटे 

पीराराम 2008 में सेना में भर्ती हुए थे उनके मासूम दो बेटे मनोज, प्रमोद हैं, जो अभी तक इस बात से अनजान है कि उनके पिता इस दुनिया मे नही रहे. शहीद पीराराम का छोटा भाई हेमाराम भी सेना में है, जो भाई के शहीद होने की खबर सुन कर पंजाब के अबोर से घर पहुंच चुका है. वहीं पीराराम के शहीद होने की सूचना मिलने के बाद पीराराम की पत्नी वगतु देवी बेसुध हो गई, जिनका इलाज राजकीय अस्पताल में चल रहा है.

तेज बर्फबारी के कारण हुआ था हादसा
Loading...

21 नवंबर की दोपहर में ड्यूटी के दौरान पांच साथियों के साथ तंगधार की ऊंची चोटी पर ड्यूटी दे रहे थे. इस इलाके में पिछले कई दिनों से तेज बर्फबारी हो रही है, इसी दौरान सीजफायर की वजह से हुई गोलीबारी की कंपन से बर्फीले पहाड़ की चट्टान टूट गई, इससे पीराराम व उसके साथी चोटी से नीचे गिर गए. पीराराम के सिर पर गंभीर चोट लगी. भारत-पाक बॉर्डर पर एलओसी इलाके में तंगधार की यह चोटी समुद्री तल से करीब 15 हजार फीट ऊंचाई पर है.

यह भी पढ़ें- पंजाबी सिंगर जसबीर जस्सी ने म्यूजिकल नाइट में बिखेरा आवाज का जादू, गीतों पर जमकर थिरके दर्शक

यह भी पढ़ें- बदमाशों ने सरपंच के पति की लाठी-डंडों से पीट-पीटकर की हत्या, गांव के बाहर फेंक गए शव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बाड़मेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 25, 2019, 11:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...