Home /News /rajasthan /

Police Shahid Diwas: राजस्थान का वो शहर, जहां की हर गली करती है अपने शहीद जवानों को सैल्यूट

Police Shahid Diwas: राजस्थान का वो शहर, जहां की हर गली करती है अपने शहीद जवानों को सैल्यूट

बाड़मेर पुलिस ने अपने 11 शहीद पुलिसकर्मियों के नाम पर सड़क, स्कूल, शहीद स्मारक बनवाए हैं....

बाड़मेर पुलिस ने अपने 11 शहीद पुलिसकर्मियों के नाम पर सड़क, स्कूल, शहीद स्मारक बनवाए हैं....

Barmer News: बाड़मेर पुलिस ने अपने 11 शहीद पुलिसकर्मियों को श्रद्धांजलि देने के लिए एक खास काम किया है. इन जाबांजों के नाम पर सड़क, स्कूल, द्वार और शहीद स्मारक बनाया गया है.

बाड़मेर. हर साल आज ही के दिन देशभर में पुलिस शहीद दिवस (Police Commemoration Day 2021) मनाया जाता है. इस दिन शहीद पुलिस जवानों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी जाती है. साल 1959 में इसी दिन पुलिस के 10 जवान लद्दाख के दुर्गम क्षेत्र में चीनी सेना से लोहा लेते हुए शहीद हो गए थे, लेकिन आज हम बात कर रहे हैं लद्दाख से हजारों किलोमीटर दूर स्थित राजस्थान के सरहदी जिले बाड़मेर की. बाड़मेर की पुलिस लाइन अपने शहीदों को सजदा साल के 365 दिन करती है. बाड़मेर (Barmer) की इस जगह की हर गली उन 11 जांबाजों के नाम से है जिन्होंने बाड़मेर पुलिस में रहते हुए देश सेवा में अपनी जान न्योछावर कर दी.

बाड़मेर जिला मुख्यालय स्थित पुलिस लाइन राज्य की सभी पुलिस लाइन से कुछ अलग है, कुछ खास है. वजह यह कि यहां महज पुलिस का अमला, असला और रिहायशी मकान नहीं है. यहां है अपनी माटी, अपनी खाकी और अपने कर्तव्य को निभाते हुए जान देने वाले बाड़मेर के 11 पुलिसकर्मियों को सैल्यूट करती सड़के, स्कूल, द्वार और शहीद स्मारक.

बाड़मेर ने ऐसे दी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि

बाड़मेर की पुलिस लाइन में शहीद मगनाराम के नाम से जिले के सबसे पहले शहीद पुलिसकर्मी के नाम से विद्यालय है. शहीद विश्वेन्द्र सिह के नाम से पुलिस का मुख्य द्वार है. यहां पुलिस के जाबांज 11 शहीद जवानों की याद चिरस्थाई करने के लिए पुलिस लाइन का हर मार्ग उनके नाम से है. इतना ही नहीं उन मार्ग पर शहीद पट्टिका का निर्माण करवाया गया है. राज्य में बाड़मेर इकलौता ऐसा जिला है जहां पुलिस शहीद स्मारक का भी निर्माण करवाया है जिससे पुलिस के जांबाज शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की जा सके. बाड़मेर के कार्यवाहक पुलिस अधीक्षक नरपत सिंह के मुताबिक, जिस तरह सेना के शहीदों को उनकी शहादत पर सम्मान दिया जाता है वैसे ही हम भी अपने जांबाजों की स्मृति को यहां चिरस्थायी रखे हुए है.

ये भी पढ़ें: Indian Railways: दिवाली से पहले राजस्थान से चलेंगी 3 स्पेशल ट्रेन, 30 में बढ़े कोच, पढ़ें पूरी डिटेल

बाड़मेर पुलिस के 11 जवानों ने दी थी शहादत

बाड़मेर पुलिस के 11 जांबाज देश सेवा करते हुए अपनी जान न्योछावर कर दी.  इनमें 8 कॉन्स्टेबल, 2 हेड कॉन्स्टेबल और 1 सब इंस्पेक्टर शामिल है. शहीद कॉन्स्टेबल राणीदान सिह 28 जून 1948, शहीद कॉन्स्टेबल आंबसिह 19 मई 1949,शहीद कॉन्स्टेबल जोगसिह 4 जनवरी 1951, शहीद हेड कॉन्स्टेबल लखसिंह 13 अप्रैल 1961,शहीद सब इंस्पेक्टर मोहनलाल 26 मई 1966,शहीद कॉन्स्टेबल मगनाराम 8 जून 1966,शहीद कॉन्स्टेबल लालाराम 26 जून 1966, शहीद हैड कॉन्स्टेबल दिलीप कुमार 17 जनवरी 1984, शहीद कॉन्स्टेबल गंगाराम 1 अगस्त 2005, शहीद कॉन्स्टेबल बाबुलाल 29 मई 2007,शहीद कॉन्स्टेबल विश्वेद्र सिह 15 अप्रैल 2019 को देश सेवा करते हुए अपनी जान न्योछावर कर दी थी. कार्यवाहक पुलिस अधीक्षक नरपतसिंह के मुताबिक पुलिस के इन जांबाजों की याद चिरस्थाई करने के लिए पुलिस लाइन में मार्ग पट्टीक,प्रवेश द्वार,शहीद स्मारक का निर्माण करवाया है.

Tags: Barmer news, Barmer police, Rajasthan latest news, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर