होम /न्यूज /राजस्थान /गूगल मैप से रास्ता खोजना पड़ा भारी यात्री को, भारत-पाक बॉर्डर पर प्रतिबंधित इलाके में जा पहुंचा

गूगल मैप से रास्ता खोजना पड़ा भारी यात्री को, भारत-पाक बॉर्डर पर प्रतिबंधित इलाके में जा पहुंचा

पुलिस, बीएसएफ और सुरक्षा एजेंसियों ने शेख वासिफ से संयुक्त रूप से दो दिन तक पूछताछ की.

पुलिस, बीएसएफ और सुरक्षा एजेंसियों ने शेख वासिफ से संयुक्त रूप से दो दिन तक पूछताछ की.

गूगल मैप से रास्ता भटका यात्री भारत-पाक बॉर्डर पहुंचा: वर्ल्ड टूर पर निकले उड़ीसा के शेख वासिफ को गूगल मैप (Google map) ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

प्रतिबंधित एरिया में 70 किलोमीटर अंदर तक चला गया था
जांच में सामने आया कि शेख वासिफ के पास ट्यूरिट वीजा था

प्रेमदान.

बाड़मेर. बाड़मेर जिले के पाकिस्तान से सटे सीमा क्षेत्र में गूगल मैप (Google map) के सहारे रास्ता खोजकर आगे बढ़ना एक व्यक्ति को भारी पड़ गया. यह व्यक्ति उड़ीसा से साइकिल पर सऊदी अरब की यात्रा पर निकला है. यह पाकिस्तान के रास्ते अफगानिस्तान, ईरान और इराक होते हुये सऊदी अरब जा रहा था. इसके लिये वह गूगल मैप का सहारा लेकर आगे बढ़ रहा था, लेकिन बाड़मेर जिले में रास्ता भटक गया. वह रास्ता भटकर बाड़मेर जिला मुख्यालय से 70 किलोमीटर दूर भारत-पाक बॉर्डर (Indo-Pak border) पर प्रतिबंधित गागरिया गांव पहुंच गया. गागरिया गांव में पुलिस, बीएसएफ और सुरक्षा एजेंसियों ने उसे गिरफ्तार कर लिया गया. उससे पूछताछ की जा रही है.

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि शेख वासिफ हैदराबाद से 25 मार्च को रवाना हुआ था. वह भारत-पाक बॉर्डर के बाड़मेर के रास्ते पाकिस्तान से मक्का मदीना जाना चाहता था. दूसरी तरफ पाकिस्तान से सटी भारत की सीमा पर किसी भी तरह की घुसपैठ को नाकाम करने के लिए बीएसएफ हाई अलर्ट पर रहती है. इस बीच उड़ीसा से वर्ल्ड टूर पर निकला शेख वासिफ साइकिल से गागरिया पहुंच गया.

प्रतिबंधित एरिया में 70 किलोमीटर अंदर तक चला गया था
इतना ही नहीं उड़ीसा निवासी शेख वासिफ प्रतिबंधित एरिया में करीब 70 किलोमीटर अंदर तक चला गया. इसकी पहले तो भनक न तो सुरक्षा एजेंसियों को लगी और न ही बाड़मेर पुलिस व बीएसएफ को लगी. बाद में जैसे ही सुरक्षा एजेंसियों को उसके बारे में पता चला तो उसे पकड़ लिया गया. पुलिस, बीएसएफ और सुरक्षा एजेंसियों ने शेख वासिफ से संयुक्त रूप से दो दिन तक पूछताछ की. पूछताछ के दौरान उसके पास सभी दस्तावेज सही पाये गये. इस पर उसे छोड़ दिया गया.

शेख वासिफ के पास ट्यूरिट वीजा था
बाड़मेर पुलिस अधीक्षक दीपक भार्गव का कहना है कि मक्का मदीना की यात्रा पर निकला यात्री गूगल मैप के जरिए प्रतिबंधित इलाके में पहुंच गया था. रामसर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के बाद ही स्थिति स्पष्ट होने के बाद उसे छोड़ दिया गया. उसके पास ट्यूरिट वीजा था. गौरतलब है कि भारत-पाक सीमा क्षेत्र में कई बार भारतीय सीमा में लोग बॉर्डर पार करने की फिराक में तारबंदी के समीप पहुंच जाते हैं. ऐसे लोगों को बीएसएफ के जवान पकड़ कर पुलिस को सौंप देते हैं.

Tags: Barmer news, Crime News, India pak border, Rajasthan news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें