लाइव टीवी

प्राइवेट पार्ट में रॉड डालने के मामले पर गहलोत सरकार का बड़ा एक्शन, SP शरद चौधरी पर गिरी गाज
Barmer News in Hindi

Prem Meena | News18 Rajasthan
Updated: February 28, 2020, 7:57 AM IST
प्राइवेट पार्ट में रॉड डालने के मामले पर गहलोत सरकार का बड़ा एक्शन, SP शरद चौधरी पर गिरी गाज
अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है.

बाड़मेर (Barmer) में अल्पसंख्यक समुदाय के एक युवक के गुप्तांग में सरिया डालने का वीडियो वायरल होने के बाद राज्य की अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के बाड़मेर (Barmer) में अल्पसंख्यक समुदाय के एक युवक के गुप्तांग में सरिया डालने का वीडियो वायरल होने के बाद राज्य की अशोक गहलोत सरकार ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है. सरकार ने इस घटना को पुलिस की लापरवाही मानते हुए बाड़मेर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) शरद चौधरी के ऊपर बड़ी कार्रवाई की है. सरकार ने एसपी को एपीओ (APO) कर दिया यानी पदस्थापन की प्रतीक्षा की लिस्ट में रख दिया है. राज्य के कार्मिक विभाग द्वारा देर रात जारी आदेश के अनुसार बाड़मेर एसपी  शरद चौधरी को आगामी आदेशों की प्रतीक्षा में रखा गया है. माना जा रहा है कि सरकार ने बाड़मेर में हाल ही में हुई तीन घटनाओं के मद्देनजर एसपी को एपीओ किया है.

इन 3 मामलों को लेकर सरकार ने की कार्रवाई

युवक से मारपीट कर प्राइवेट पार्ट में रॉड डालने का मामलाः युवक के गुप्तांग में सरिया डालने का वीडियो वायरल होने के बाद विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ था. पीड़ित युवक ने बाड़मेर एसपी के समक्ष गुहार लगाई थी. लेकिन पुलिस ने इसके बावजूद भी त्वरित कार्रवाई नहीं की और आरोपियों को पकड़ने में लापरवाही बरती. सरहदी जिले बाड़मेर के ग्रामीण थाना क्षेत्र के भादरेश गांव के निकट युवकों द्वारा मोबाइल चोरी के आरोप में पड़ोसी गांव तिरसिंगड़ी गांव के एक युवक के साथ मारपीट की गई. युवक के साथ अमानवीय कृत्य किया गया. उसके गुप्तांग में सरिया डाल कर प्रताड़ित किया गया. पीड़ित युवक अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक रखता है. पीड़ित अल्पसंख्यक जाति के युवक को एक निजी ढाबे पर बुलाकर जबरन शराब पिलाकर घटना को अंजाम देना बताया गया है.

पुलिस हिरासत में युवक की मौतः पुलिस हिरासत में एक युवक की मौत के मामले को भी सरकार ने गंभीरता से लिया है. सरकार ने थाना अधिकारी को सस्पेंड कर दिया और पूरे पुलिस थाने कोई लाइन हाजिर कर दिया. जानकारी के अनुसार  हमीरपुरा निवासी जीतू खटीक को ग्रामीण थाना पुलिस ने चोरी के आरोप में  बुधवार को दोपहर में हिरासत में लिया था. गुरुवार को सुबह पुलिस हिरासत में अचानक जीतू की बिगड़ी तबीयत बिगड़ गई. इस पर पुलिसकर्मियों के हाथ-पांव फूल गए. युवक को आनन-फानन में इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया. वहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. इससे पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया और आला अधिकारी तत्काल अस्पताल पहुंचे.



दबंगों ने 50 लोगों को गांव से निकालाः इसके अलावा दबंगों द्वारा बाड़मेर के एक गांव में अल्पसंख्यक समुदाय के 50 लोगों को बेदखल करने का भी मामला सामने आया था. मामला जिला मुख्यालय से करीब 30 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत बिसाला का है. सदर थाना इलाके इस गांव के 50 लोग कभी खेतों में भटक रहे हैं तो कभी रिश्तेदारों के यहां रातें गुजार रहे हैं. वह भी 1-2 दिन से नहीं, बल्कि पूरे 2 महीनों से. गांव के दंबगों ने पंचायत बुलाकर इन पीड़ितों को गांव से बेदखल कर दिया है. पीड़ितों का कहना है कि हत्या के एक मामले में परिवार के दो लोगों का नाम था. उन दोनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.


ये भी पढ़ें- 

68 वर्षीय ससुर ने बहू के साथ की मारपीट, जब VIDEO वायरल हुआ तो...

फ्रांसीसी जोड़े ने जोधपुर में मारवाड़ी रीति-रिवाज से मंदिर में रचाई शादी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बाड़मेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2020, 7:31 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर