होम /न्यूज /राजस्थान /

REET: बाड़मेर में गांव-गांव, ढाणी-ढाणी में बिका था रीट का पेपर, 10 से 12 लाख रुपये लगी थी कीमत

REET: बाड़मेर में गांव-गांव, ढाणी-ढाणी में बिका था रीट का पेपर, 10 से 12 लाख रुपये लगी थी कीमत

भजनलाल विश्नोई बाड़मेर जिले के चौहटन का रहने वाला है. वर्तमान में वह बाड़मेर में रहता है. वह डबल 'ए' श्रेणी का ठेकेदार है.

भजनलाल विश्नोई बाड़मेर जिले के चौहटन का रहने वाला है. वर्तमान में वह बाड़मेर में रहता है. वह डबल 'ए' श्रेणी का ठेकेदार है.

REET paper leak case: रीट पेपर लीक केस की जांच में जुटी एसओजी इस मामले में लगातार आरोपियों की धरपकड़ में जुटी है. हाल ही में बाड़मेर में ठेकेदार भजनलाल और उसकी एक महिला रिश्तेदार को भी पकड़ा गया है. जांच में सामने आया है कि बाड़मेर में गांव-गांव, ढाणी-ढाणी तक में रीट का पेपर बिका था. वहां इसकी कीमत 10 से 12 लाख रुपये लगाई गई थी. एसओजी की दबिशों के बाद बाड़मेर में करीब 100 से ज्यादा अभ्यर्थी और पेपर लीक केस से जुड़े लोग भूमिगत हो गये हैं.

अधिक पढ़ें ...

बाड़मेर. रीट पेपर लीक केस (REET paper leak case) की जांच में जुटे स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (SOG) के हाथ नित नये सबूत और आरोपी हाथ लग रहे हैं. जैसे-जैसे एसओजी का जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है वैसे-वैसे इसकी परतें खुलती जा रही है. एसओजी ने जब बाड़मेर में ठेकेदार भजनलाल विश्नोई (Bhajanlal Vishnoi) को पकड़ा तो उससे कई चौंकाने वाले खुलासे हुये. एसओजी की जांच में सामने आया कि बाड़मेर में रीट का पेपर 10 से 12 लाख रुपये में बिका था. बाड़मेर में एसओजी की ओर दी जा रही दबिशों के बाद करीब 100 से अधिक अभ्यर्थी और पेपर लीक गिरोह से जुड़े लोग भूमिगत हो गये हैं.

एसओजी ने बाड़मेर में एक वकील के घर भी दबिश दी है. वहीं पकड़ा गया ठेकेदार बाड़मेर में तैनात कई अधिकारियों का नजदीकी बताया जा रहा है. उसके राजनीतिक रसूखात भी काफी हैं. पेपर लीक मामले में ठेकेदार भजनलाल रुपयों के लेनदेन को लेकर कई अभ्यर्थियों का गारंटर बना था. बताया जा रहा है कि बाड़मेर जिले में रीट का पेपर शहर से लेकर गांवों तक पहुंचा था. एसओजी अब ठेकेदार भजनलाल के करीबी मनोज विश्नोई की तलाश कर रही है. उसकी तलाश में एसओजी के साथ बाड़मेर की पुलिस भी जुटी हुई है.

डबल ए श्रेणी का ठेकेदार है भजनलाल
भजनलाल विश्नोई बाड़मेर जिले के चौहटन का रहने वाला है. वर्तमान में वह बाड़मेर में रहता है. भजनलाल डबल ए श्रेणी का ठेकेदार है. उसे एसओजी ने दो दिन पहले पूछताछ के लिये बुलाया था. पूछताछ के बाद बुधवार को उसे गिरफ्तार कर लिया गया था. भजनलाल के साथ ही उसकी रिश्तेदार सोहनी देवी को भी पकड़ा गया है. सोहनी देवी भजनलाल की पत्नी की भतीजी बताई जा रही है. उसने भी रीट की परीक्षा दी थी.

परीक्षा से पहले यहां खरीदे गये थे दर्जनों डोंगल
जांच में सामने आया कि रीट परीक्षा के कारण इंटरनेट बंद होने के चलते परीक्षा से पहले यहां दर्जनों डोंगल खरीदे गये थे. बाड़मेर शहर में ही किराए के मकानों में नकल रैकेट चला था. एसओजी को अंदेशा है कि रीट परीक्षा में बाड़मेर में नकल का बड़ा खेल चला था. एसओजी इस नकल के इस खेल की जड़े खोदनी में जुटी है.

जयपुर में भी आरोपी के खिलाफ हुई कड़ी कार्रवाई
दूसरी तरफ जयपुर में रीट पेपर लीक केस में पकड़े गये रामकृपाल मीणा के स्कूल और कॉलेज को बुधवार को पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गया. रामकृपाल ने अपना स्कूल और कॉलेज सरकारी भूमि पर कब्जा करके बना रखी थी. रीट केस में पकड़े जाने बाद सरकार ने सरकारी भूमि पर कब्जे के मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुये उसके स्कूल और कॉलेज पर बुलडोजर चलवा दिया.

Tags: Barmer news, Rajasthan latest news, Rajasthan news, REET exam

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर