RIP Jaswant Singh: जसवंत सिंह ने क्यों छोड़ी थी BJP, यहां पढ़ें- उनका राजनीतिक सफरनामा

पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन. फाइल फोटो.
पूर्व केन्द्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन. फाइल फोटो.

राजस्थान (Rajasthan) के थार का शेर कहे जाने वाले कद्दावर नेता जसवंत सिंह जसोल (Jaswant Singh Jasol) का 82 वर्ष की उम्र में निधन हो गया.

  • Share this:
बाड़मेर. राजस्थान (Rajasthan) के थार का शेर कहे जाने वाले कद्दावर नेता जसवंत सिंह जसोल  (Jaswant Singh Jasol) का 82 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. राजस्थान के बाड़मेर से आने वाले जसवंत सिंह ने अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) सरकार में विदेश, रक्षा और वित्त मंत्रालयों की ज़िम्मेदारी संभाली थी वो भारतीय सेना में मेजर भी रह चुके थे. मारवाड़ सहित देश भर में "दाता" के नाम से प्रसिद्ध जसवंतसिंह जसोल के निधन की खबर से शोक की लहर छा गई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके उनकी मृत्यु पर गहरा शोक जताया है.

भाजपा नेता भैरों सिंह शेखावत ने उन्हें जनसंघ में शामिल किया. इसके बाद जसवंत सिंह के राजनीतिक जीवन की शुरुआत हुई. उनकी पहली राजनीतिक सफलता 1980 में आई, जब उन्हें राज्यसभा के लिए चुना गया. उन्होंने 1996 में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली 13 दिवसीय सरकार में वित्त मंत्री के रूप में कार्य किया. वाजपेयी के दो साल बाद फिर से प्रधानमंत्री बनने पर जसवंत सिंह 5 दिसंबर, 1998 से 1 जुलाई, 2002 तक भारत के विदेश मामलों के मंत्री बने. इस पद पर रहते हुए जसवंत ने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव की स्थिति का निपटारा किया.





फिर बने वित्त मंत्री
जुलाई 2002 में, जसवंत सिंह फिर से वित्त मंत्री बने। उन्होंने मई 2004 तक वित्त मंत्री के रूप में कार्य किया. बता दें कि 2012 में भाजपा ने उन्हें उप राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया, लेकिन, यूपीए के हामिद अंसारी के हाथों हार का सामना करना पड़ा. अपनी किताब में जसवंत ने मुहम्मद अली जिन्ना की तारीफ की. भाजपा ने उन्हें पार्टी से निकाल दिया. 2010 में उनकी वापसी हुई. 2014 में उन्हें भाजपा ने लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया. उनकी बाड़मेर-जैसलमेर सीट से भाजपा ने कर्नल सोनाराम चौधरी को उतारा. इसके बाद जसवंत सिंह ने फिर भाजपा छोड़ दी. निर्दलीय चुनाव लड़े, लेकिन हार गए.

कोमा में थे जसवंत सिंह
2014 में जसवंत सिंह को सिर में चोट लगी. इसके बाद से जसवंत सिंह कोमा में ही थे. आज उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पुनिया, केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, पूर्व गृह मंत्री लालचंद कटारिया, पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा, ओम बिरला, राजेन्द्र राठौड़,दिया कुमारी, केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी सहित कई नेताओं ने ट्वीट कर श्रन्दाजलि अर्पित की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज